एंड्रॉयड का दबदबा, पहली बार विंडोज को पछाड़ बना नम्बर वन

Punjab Kesari

जालंधर : ऑप्रेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है जिसे कम्प्यूटर के हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर को सही तरीके से चलाने के लिए काम में लाया जाता है। दुनिया भर में अब तक सबसे ज्यादा विंडोज ऑप्रेटिंग  सिस्टम का यूज इंटरनैट चलाने के लिए किया जाता था, लेकिन हाल ही में एंड्रॉयड ने बाजी मारते हुए इंटरनैट यूसेज के मामले में विंडोज ओ.एस. को पीछे छोड़ दिया है। वैब ट्रैफिक एनालिसिस कम्पनी स्टैटकाऊंटर ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें टोटल इंटरनैट यूसेज (डैस्कटॉप, लैपटॉप, टैबलेट व फोन) को देखते हुए बताया गया है कि एंड्रॉयड ने विंडोज को पीछे छोड़ दुनिया भर के सबसे पापुलर ऑप्रेटिंग सिस्टम होने का दर्जा प्राप्त कर लिया है। 

एंड्रॉयड ने बनाई 37.93 प्रतिशत की पकड़

पूरी दुनिया में एंड्रॉयड मोबाइल डिवाइसिस के यूजर्स विंडोज यूजर्स से बढ़ गए हैं। मार्च 2017 की इस रिपोर्ट के मुताबिक  मार्कीट शेयर में एंड्रॉयड ने 37.93 प्रतिशत की पकड़ बना ली है और विंडोज ऑप्रेटिंग वल्र्डवाइड सिस्टम को 37.91 प्रतिशत वल्र्डवाइड मार्कीट शेयर की पकड़ से पीछे छोड़ दिया है। इस माॢजन को काफी कम कहा जा सकता है, लेकिन हैरान करने वाली बात तो यह है कि एंड्रॉयड ने पांच सालों में ही 2.4 प्रतिशत वल्र्डवाइड मार्कीट शेयर से शुरूआत करते हुए काफी कम समय में ऑप्रेटिंग को पीछे छोड़ दिया है। हालांकि उत्तरी अमरीका में विंडोज का 39.5 प्रतिशत शेयर है जो आई.ओ.एस के 25.7 प्रतिशत से ज्यादा है। वहीं एशिया की बात की जाए तो यहां 52.2 प्रतिशत मार्किट शेयर एंड्रॉयड का है जो विंडोज के 29.2 प्रतिशत से कहीं ज्यादा है। 

इसके अलावा अगर डैस्कटॉप ऑप्रेटिंग सिस्टम की बात की जाए तो विंडोज ऑप्रेटिंग सिस्टम के यूजर्स 84 प्रतिशत हैं, लेकिन अब स्मार्टफोन सैगमैंट में विंडोज को पीछे छोड़ एंड्रॉयड ने बाजी मार ली है। इस आंकड़े से यह स्पष्ट है कि लोग कम्प्यूटर से ज्यादा स्मार्टफोन का उपयोग कर रहे हैं।