अब समुद्र में डूबे सारे राज बाहर लाएगी यह एप्प

Punjab Kesari

जालंधर- टेक्नोलॉजी की मदद से हमारी जिंदगी पहले से कई ज्यादा आसान बन गई है। इसी के तहत भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (आईएनसीओआईएस) हैदराबाद ने एक मोबाइल एप्प विकसित किया है जो समुद्र में लोगों के जीवन और संपत्तियों की रक्षा करेगा। सारत नाम का यह टूल कुल 64 तरह की खोई हुई चीजों का पता लगा सकता है। इसकी मदद से चीजों के अलावा लोगो का भी पता लगाया जा सकता हैं। 

इस एप्प को राष्ट्रीय समुद्री खोज और बचाव (एनएमएसएआर) के अध्यक्ष और भारतीय तटरक्षक के महानिदेशक राजेंद्र सिंह ने सोमवार को नई दिल्ली में लांच कर दिया है। इससे न केवल समुद्र में लापता हुई चीजों जैसे नाव और जहाज का पता चलेगा बल्कि लोगों या भी पता चल सकेगा। समुद्र में खोज के ऑपरेशन आदि में यह एप्प बेहद काम आएगी। कैसे करेगा काम इस एप्प पर लोग उस जगह को चिन्हित कर सकते हैं, जहां कोई वस्तु या व्यक्ति आखिरी बार देखा गया था। 

बता दें कि सारत प्रणाली का वेब वर्जन पिछले साल जारी किया गया था। इसे भारतीय तटरक्षक, भारतीय नौसेना और तटीय सुरक्षा पुलिस के खोज अभियान में वक्त बचाने तथा उनके विभिन्न अभियानों के दौरान जिन्दगी बचाने, लोगों को घायल होने से बचाने तथा संपत्तियों की बरबादी को बचाने के लिए लांच किया गया था।

वहीं इसी प्रणाली के इस्तेमाल से भारतीय तटरक्षक के साल 2015 में चेन्नई से उड़ान भरने के बाद गायब हुए डोर्नियर की खोज की गई थी। जल्द गूगल प्ले स्टोर पर होगी उपलब्ध यह कमाल की एप्प जल्द ही गूगल प्ले स्टोर में डाउनलोड के लिए उपलब्ध होगी।