ट्रूकॉलर एंड्रॉयड एप्प में शामिल हुआ नया कॉल मी बैक फीचर

Punjab Kesari

जालंधर - ट्रूकॉलर को आज से 7 साल पहले सितंबर 2009 में शुरू किया गया था और तब से लेकर अब तक यूजर्स ने फोन नंबर का पता लगाने के लिए इस एप्प का सबसे ज्यादा यूज किया। ट्रूकॉलर ने गुरुवार को अपनी एंड्रॉयड एप्प में नया फीचर 'कॉल मी बैक' पेश किया है। इस फीचर में आप जब भी किसी शख्स को कॉल करते हैं और वह किसी वजह से कॉल नहीं उठाता है तो आपको दो विकल्प मिलेंगे। इनमें से एक होगा, उस शख्स को 'कॉल बैक' करने का नोटिफिकेशन और दूसरा 'कॉल अगेन'। इस फीचर की मदद से आम यूजर के साथ-साथ ई-कॉमर्स कंपनियों को डिलिवरी करने में भी आसानी होगी।

1482468710_truecaller_call_me_back_scenario_2_1482395538278.jpg

कॉल मी बैक फीचर में अगर कोई ट्रूकॉलर यूजर किसी दूसरे ट्रूकॉलर यूजर से कनेक्ट करने में असफल होता है तो उसे दो विकल्प मिलेंगे- आस्क टू कॉल बैक वा कॉल एनीवे। पहला विकल्प चुनने पर रिसीवर को एक नोटिफिकेशन भेजा जाएगा, कॉल बैक के लिए और अगर दूसरा विकल्प चुनते हैं तो कॉल फिर से लग जाएगी।

Truecaller12

ट्रूकॉलर ने बताया है कि 'आस्क टू कॉल बैक' और 'कॉल एनीवे' विकल्प तभी दिखेगा जब रिसीवर ने इनकमिंग कॉल को रिजेक्ट कर दिया होगा या दूसरे कॉल पर बिजी होगा।' एंड्रॉयड यूजर इस नए फीचर को एप्प अपडेट कर यूज कर सकते हैं।