यूरोप में भी बैकफुट पर व्हाट्सएप, फेसबुक पर नहीं शेयर होगा डाटा

Punjab Kesari

जालंधर : फेसबुक के साथ व्हाट्सएप यूजर्स का डाटा शेयर करने के मामले को लेकर भारत की राह पर यूरोप ने भी व्हाट्सएप को फटकार लगाई है। यूरोपिरयन रैगुलेटरी की सख्ती के बाद व्हाट्सएप ने यूरोप में व्हाट्सएप यूजर्स का डाटा फेसबुक के साथ शेयर करने से कदम पीछे खींच लिए हैं। फिलहाल व्हाट्सएप द्वारा यह कदम अस्थायी रूप से उठाया गया है।  
भारत में विरोध के बाद भी पीछे खींच चुका है कदम 
इससे पहले भारत में दिल्ली हाईकोर्ट ने व्हाट्सएप को यूजर्स का डाटा फेसबुक से शेयर न करने के आदेश दिए थे। व्हाट्सएप के फैसले के बाद 2 छात्रों कर्मण्य सिंह सरीन और श्रेया सेठी ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिसमें कोर्ट ने 25 सितम्बर तक व्हाट्सएप को डाटा शेयरिंग रोकने के लिए कहा था। व्हाट्सएप ने 6 अक्तूबर को कोर्ट को बताया कि यूजर अपने सिस्टम में बदलाव कर डाटा शेयरिंग को रोक सकेंगे। 
क्या है व्हाट्सएप की डाटा शेयरिंग पॉलिसी
इस पॉलिसी के तहत व्हाट्सएप अपने यूजर्स का डाटा जिसमें मोबाइल नम्बर भी शामिल है अपनी पेरैंट कम्पनी फेसबुक से सांझा करेगा जो फेसबुक यूजर्स को टार्गेट विज्ञापन के समय काम आएगा। हालांकि कम्पनी पहले ही ये साफ कर चुकी है कि फेसबुक को दिया गया आपका नम्बर सुरक्षित रहेगा।
व्हाट्सएप डाटा फेसबुक से शेयर करने से ऐसे बचाएं  
व्हाटसएप डाटा फेसबुक से शेयर न करने के 2 तरीके हैं जिन्हें यूजर्स इस्तेमाल में ला सकते हैं। 
1. व्हाट्सएप की नई यूजर पॉलिसी पर एग्री करने से पहले रीड मोर ऑप्शन में जाकर 'Share my WhatsApp account information with Facebook' को अनचैक करना है। 
2. इस पॉलिसी को एग्री करने वाले यूजर्स के पास एक महीने का समय होगा। इस दौरान यूजर्स सैटिंग्स मैनु में जाकर अकाऊंट पर क्लिक कर 'Share my account info' को अनचैक कर सकते हैं।