भारत आने की तैयारी में है टेस्ला, मार्च महीने में हो सकती है एंट्री

Punjab Kesari

जालंधर - इलेक्ट्रिक कारों से दुनिया भर में नाम बनाने वाली कंपनी टेस्ला जल्द ही भारत में अपनी इलैक्ट्रिक कारों को लेकर आने वाली है। टेस्ला मोटर्स के फाउंडर एलन मस्क ने हाल ही में सोशल मीडिया पर यह साझा किया है कि उनकी कंपनी टेस्ला इस साल मार्च तक भारत में कदम रख सकती है। भारत में टेस्ला की एंट्री की पहले भी 2 डेडलाइन्स मिस हो चुकी हैं, लेकिन इस बार एलन ने खुद ट्वीट करके कहा है कि उनकी कंपनी इस बार गर्मियों में भारत आ सकती है। 

टेस्ला के भारत आने के मुख्य कारण -

ऑटो एक्सपर्ट अब्दुल माजिद का कहना है कि टेस्ला भारत में आने के बाद सीधे तौर पर लग्जरी कार कंपनियों को चैलेंज करेगी। टेस्ला मॉडल-3 कंपनी की अब तक की सबसे अफोर्डेबल कार है। इसकी कीमत अमरीका में 23 हजार डॉलर रखी गई है। यानी इंडियन करेंसी के हिसाब से करीब 23 लाख रुपए। अगर भारत में इसे इंपोर्ट किया जाता है तो यह कीमत 40 से 50 लाख रुपए के बीच पहुंच जाएगी। 

माजिद का कहना है कि इलेक्ट्रिक कारों की सफलता के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर का होना सबसे जरूरी है और यही वजह है कि इंडिया में अब तक किसी कंपनी ने इलेक्ट्रिक कार डिवेल्प करने के लिए दिलचस्पी नहीं दिखाई है। सिर्फ महिंद्रा इलेक्ट्रिक ने रेवा को उतारा है, लेकिन उसकी भी अपनी सीमाएं हैं। हालांकि मस्क ने इस बात का भी ऐलान किया है कि वह सिर्फ कार नहीं, बल्कि पूरा सॉलूशन लेकर आ रहे हैं। उनका प्लान इंडिया में सुपरचार्जर स्टेशनों का पूरा नेटवर्क बनाने का है, जहां लोग अपनी टेस्ला कारों को क्विक चार्ज कर सकेंगे।