हिंदुस्तान मोटर्स ने ऐंबैसडर ब्रांड को 80 करोड़ रुपए में बेचा

Punjab Kesari

जालंधर : भारत की वाहन निर्माता कंपनी हिंदुस्तान मोटर्स द्वारा बनाई गई ऐंबैसडर कार को लोगों ने शुरुआत से ही काफी पसंद किया है। इस कार का भारत में उत्पादन सन 1958 से 2014 तक किया गया जिस दौरान इस कार को भारत के प्रधानमंत्री से लेकर आम आदमी तक उपयोग में लाया गया। हाल ही में इस ऐंबैसडर कार ब्रांड को हिंदुस्तान मोटर्स ने फ्रेंच कार कंपनी प्यूजोट (Peugeot SA Group) को बेच दिया है। सीके बिड़ला ग्रुप के मालिकाना हक वाली हिंदुस्तान मोटर्स ने यह सौदा 80 करोड़ रुपए में किया है।

सीके बिड़ला ग्रुप के प्रवक्ता ने कहा है कि, 'हमने प्यूजोट एसए ग्रुप के साथ अपने ब्रांड और ट्रेडमार्क ऐंबैसडर को बेचने का समझौता किया है। ऐंबैसडर एक लोकप्रिय  ब्रांड है और हम इसे बेचने के लिए पहले से ही एक सही खरीददार की तलाश में थे।  इस सौदे के बाद हम कर्मचारियों ड्यूज व अन्य देनदारियां देनी शुरू कर देंगे।' हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि प्यूजोट भारत में अपनी कारों के लिए ऐंबैसडर ब्रांड का प्रयोग करेगा या नहीं। इस संबंध में फ्रेंच कंपनी ने कोई जवाब नहीं दिया है।

ऐंबैसडर ब्रांड बेचने की वजह -

इस कार की बिक्री में काफी गिरावट दर्ज की गई थी जिसके चलते इसे बेचा गया। 1980 के दशक के मध्य में हर साल 24,000 ऐंबैसडर बिकती थीं, वहीं साल 2013-14 में यह संख्या घटकर केवल 2,500 यूनिट रह गई। इसके बाद 24 मई, 2014 को हिन्दुस्तान मोटर्स की उत्तरपारा प्लांट में उत्पादन बंद कर दिया गया। अब कार की तरफ लोगों की कम डिमांड को देख कर इस ब्रांड को बेच दिया गया।