लॉन्ग ड्राइव पर जाने से पहले रखें इन टिप्स का खास ध्यान

Punjab Kesari

जालंधर - लॉन्ग ड्राइव पर जाने से पहले आपको यह पता होना जरूरी है कि आपकी कार की कंडीशन कैसी है यानि कार लॉन्ग ड्राइव पर जाने लायक है भी या नहीं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिनका ध्यान रखकर आप सफर के दौरान सुरक्षित और चिंतामुक्त ड्राइविंग का आनंद ले सकते हैं...

कार ब्रेक -

ब्रेक सिस्टम गाड़ी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। आजकल की हाई-स्पीड जिंदगी में ब्रेक में आई जरा सी गड़बड़ी जानलेवा हो सकती है। इसी लिए कार पार्ट्स की रेग्युलर पड़ताल के दौरान ब्रेक-पैड देख लेने चाहिए और अगर जरूरत पड़े तो इसे लगभग हर दो सालों में रिप्लेस करवाते रहना चाहिए।

brakes11

टायर -

सेफ ड्राइविंग के लिए एक तय वक्त पर टायर प्रेशर को भी जांचते रहें और अगर जरूरत हो तो टायर बदलवाएं। सही टायर प्रेशर आपको सुरक्षित ड्राइविंग के दायरे में रखता है। याद रखें कि यह प्रेशर मौसम और लंबी यात्रा के हिसाब से बदल भी सकता है। कार के टायरों को हर 5 साल अथवा टायर की हालत के अनुसार बदलते रहना चाहिए।

ford 112
कूलैंट -

रेडिएटर में भरा लिक्विड कूलिंग सिस्टम को सही से काम करवाता है और साथ ही ये ऐंटीफ्रीज की भूमिका भी निभाता है। कार पार्ट्स की रिप्लेसमेंट के वक्त इनका भी ध्यान रखें। इसका लेवल नियमित तौर पर जांचते रहें। साथ ही इसकी साफ-सफाई का भी ध्यान रखें और लगभग हर दो सालों में इसे चेंज कराते रहें।

coolent11

इंजन बेल्ट -

कार की जांच कराते समय इंजन बेल्ट को भी चेक करवाते रहें क्योंकि एक बार बेल्ट टूटने पर मोटा खर्चा हो सकता है। इसीलिए तकरीबन 3 साल के बाद इसे चेंज करवा लें।

belt12
स्पार्क प्लग्स -

स्पार्क प्लग गाड़ी का छोटा वा अहम हिस्सा होता है, लेकिन इन्हें एक तय वक्त पर रिप्लेस करवाना जरूरी हो जाता है। अपनी माइलेज लिमिट क्रॉस करने के बाद अगर आप इन्हें नहीं बदलवाते तो आपकी गाड़ी इमिशन टेस्ट में फेल हो सकती है। इसीलिए तकरीबन 70 हजार किलोमीटर गाड़ी चलाने के आस-पास इसे रिप्लेस करवा सकते हैं।

plug121

पावर-स्टीयरिंग फ्लूइड -

अगर गाड़ी में पावर स्टीरिंग मौजूद  है, तो पावर स्टीरिंग फ्लूड आपकी गाड़ी का जरूरी हिस्सा है। अपने विश्वसनीय सर्विस सेंटर में जाकर इसके रखरखाव के बारे में पड़ताल करते रहें और हमेशा इंजन ऑइल चेंज करते वक्त इसके पावर-स्टीयरिंग फ्लूइड को भी चेक करवाते रहें।

power stearing11

फ्यूल फिल्टर -

फ्यूल फिल्टर भी कार के अहम हिस्सों में से एक है। इसे हर दो सालों में एक बार मकैनिक से चैक करवा के रिप्लेस करवा लें।

filter11

एयर फिल्टर-

अगर आप मुंह पर हाथ रखकर दौड़ लगाना शुरू कर देंगे तो आपको पता चल जाएगा कि आपकी गाड़ी के इंजन को एयर अर्थात हवा की कितनी जरूरत होती है। इसकी देखभाल नियमति तौर पर करते रहें और हर 12 महीने के बाद इसे चेंज करवाते रहें।

air filter11

बैटरी -

अगर कार का चार्जिंग सिस्टम ठीक तरीके से काम कर रहा है और बैटरी टर्मिनल्स भी साफ-सुथरे हैं तब भी बैटरी टर्मिनल्स को तय वक्त के बाद रिप्लेस करवाते चलें। हर 48 से 60 महीनों के भीतर बैटरी टर्मिनल्स को जरूर चेंज करवाएं।

battery11