फिंगरप्रिंट स्कैन करने के बाद ही स्टार्ट होगी कार

Punjab Kesari

जालंधर : स्मार्टफोन और कम्प्यूटर में फिंगरप्रिंट स्कैनर का उपयोग काफी समय से किया जा रहा है और अब यह तकनीक कारों की सुरक्षा भी बढ़ाएगी। हाल ही में टायर बनाने वाली मशहूर कम्पनी कॉन्टिनैंटल (Continental) ने नई तकनीक विकसित की है जिससे कार को स्टार्ट करने में फिंगरप्रिंट स्कैनर की जरूरत होगी। इस तकनीक की मदद से जहां कारों की सुरक्षा बढ़ेगी वहीं कार के चोरी होने का खतरा भी कई गुना तक कम हो जाएगा।

चाबी की तुलना में बेहद सुरक्षित -

कॉन्टिनैंटल द्वारा बनाई गई यह तकनीक गाडिय़ों में प्रयोग होने वाले स्टार्ट व स्टॉप बटन के साथ मिल कर काम करेगी। स्टार्ट व स्टॉप बटन के अंदर फिंगरप्रिंट स्कैनर लगा होगा और जब कार का मालिक स्टार्ट व स्टॉप बटन पर अपनी उंगली रखेगा तो ङ्क्षफगर स्कैन होने के बाद कार स्टार्ट होगी। 

कैमरे का भी होगा अहम रोल -

फिंगरप्रिंट स्कैनर के साथ कैमरा भी अपना अहम योगदान देगा। चालक द्वारा फिंगर को स्कैन करते वक्त कार में लगा कैमरा चालक को स्कैन कर उसकी प्रोफाइल की जांच करेगा। इससे कार के चोरी होने का खतरा और भी कम हो जाएगा।

सुरक्षा के मद्देनजर बनाई गई यह तकनीक -

कार को चोरी होने से बचाने के अलावा इस तकनीक को विकसित करने का मुख्य लक्ष्य टीनेजर्स और बच्चों की सुरक्षा करना भी है ताकि उन्हें कार की चाबी चुराकर उसमें बैठने से रोका जा सके। 

सी.ई.एस. में पेश की जाएगी यह तकनीक -

कॉन्टिनैंटल इस नई तकनीक को जनवरी में लास वेगास स्थित होने वाले 2017 कंज्यूमर इलैक्ट्रानिक्स शो (सी.ई.एस.) में दुनिया के सामने पेश करेगी।