नए नियमों के पालन के लिए यात्री वाहन पोर्टफोलियो तैयार कर रही टाटा मोटर्स

Punjab Kesari

जालंधरः  प्रमुख वाहन कपनी टाटा मोटर्स वाहनों के लिए नए सुरक्षा नियमों के अनुपालन की तैयारी करते हुए अपने यात्री वाहन (पीवी) उत्पादों का पोर्टफोलियो तैयार कर रही है। उसकी इस पहल का मकसद लाभकारी वृद्धि दर्ज करना है। कंपनी की इस पहल से नैनो की यात्रा पर विराम लग सकता है।   

कंपनी का कहना है कि 2018 तक अपने नए प्लेटफार्म के तहत नए उत्पाद पेश किए जाने तक वह हैचबेक टियागो तथा सेडान टिगोर पर ध्यान केंद्रित करेगी। इसके जरिए कंपनी नए दौर के संक्रमण काल में यात्री वाहनों की बिक्री व कारोबार को सुधारने में करेगी।  

टाटा मोटर्स के प्रबंध निदेशक व सीईआे गुएंतेर बुशचेक ने जिनेवा मोटर शो में पीटीआई भाषा को यह जानकारी दी। कंपनी अपनी लखटकिया कार नैनो का क्या भविष्य देखती है यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा,‘ पुरानी दुनिया तो निसंदेह बदलने जा रही है। टाटा मोटर्स के कारण नहीं बल्कि नियामकीय माहौल में बदलाव के कारण। यह 2020 में उत्सर्जन संबंधी नियम हो सकते हैं या अन्य बदलाव।’ उल्लेखनीय है कि भारत इस साल अक्तूबर से यात्री वाहनों में यात्री सुरक्षा को लेकर कड़े नियम अपनाने जा रहा है। इसके तहत कार आदि वाहनों में सुरक्षा एयरबैग अनिवार्य होंगे। इसी तरह 2020 में देश में बीएस-छह उत्सर्जन यिम लागू होने हैं।  

बुशचेक ने कहा, ‘कुछ उत्पादों का जीवन चक्र तो स्वत: ही समाप्त हो जाएगा।  इस संबंध में साफ सफाई स्वाभाविक है। हमने फिलहाल बिक रहे अपने सभी उत्पादों की लागत घटाने की पहल की है।’ नैनो का उत्पादन कब बंद होगा यह पूछे जाने पर उन्होंने स्पष्ट रूप से कोई जवाब नहीं दिया और कहा, ‘एक समय हर कार का समय समाप्त होता है।’