वैज्ञानिकों ने खोजी आकाशगंगा से 1000 गुना ज्यादा चमकीली गैलेक्सी

Punjab Kesari

जालंधर: वैज्ञानिकों ने हमारी आकाशगंगा (मिल्की वे) से 1000 गुना ज्यादा चमकीली गैलेक्सी (आकाशगंगा) की खोज की है। स्पेन की वेधशाला में वैज्ञानिकों ने ग्रान टेलिस्कोपियो केनेरियास (जीटीसी) की मदद से इसे खोजा है।

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वाइस सेटेलाइट और यूरोपीय अंतरिक्ष एजैंसी के प्लांक सेटेलाइट से मिले आंकड़ों की मदद से वैज्ञानिकों ने इस सबसे चमकीली आकाशगंगा को खोजा। स्पेन की टेक्निकल यूनिवर्सिटी ऑफ कार्टाजेना के शोधकर्ता डियाज सैजेच ने कहा बताया कि इस आकाशगंगा में तारों के निर्माण की गति बहुत तेज है।

अध्ययन के मुताबिक इसमें सालाना 1000 सौर द्रव्यमान के बराबर तारों का निर्माण हो रहा है। वहीं हमारी आकाशगंगा में महज 2 सौर द्रव्यमान के बराबर तारों का निर्माण होता है। इसे ब्रह्माांड में सबसे तेज तारों के निर्माण वाला क्षेत्र भी माना जा रहा है।