हाइड्रोजन फ्यूल कारों पर काम कर रही है ये कंपनियां

Punjab Kesari

जालंधऱ : कार निर्माता कंपनियां इलेक्ट्रिक कारों के साथ-साथ हाइड्रोजन कारों पर भी काम कर रही हैं। अमरीकी एनर्जी डिपार्टमेंट के मुताबिक, अमरीका में 15,431 इलेक्ट्रिक स्टेशन मौजूद हैं, जबकि हाइड्रोजन स्टेशनों की संख्या महज 33 है। इसके बावजूद जनरल मोटर्स और होंडा ने साझेदारी कर हाइड्रोजन कारों को हकीकत बनाने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। हाइड्रोजन पावर्ड कारों की रेंज ज्यादा होती है, लेकिन इनका फिलिंग टाइम इलेक्ट्रिक कारों के मुकाबले काफी कम होता है। 

1. हाइड्रोजन पावर्ड कारों के सेगमेंट में सबसे बढ़िया कार होंडा क्लैरिटी है। इस कार को बनाना होंडा ने कैलिफोर्निया में 2016 के आखिर में शुरू किया था। ईपीए ने हाल में ही इसकी रेंज 366 मील कर दी है, जो किसी भी जीरो-इमिशन वाली गाड़ी के मामले में सबसे ज्यादा है। होंडा का कहना है कि क्लैरिटी का रीफ्यूल टाइम महज 3 से 5 मिनट का है।

2. जनरल मोटर्स ने पिछले साल अपनी हाइड्रोजन पावर्ड कार का खुलासा किया था। अमरीकी आर्मी इस कार का परीक्षण 2017 में करेगी और देखेगी कि क्या यह कार उसके ऑपरेशन के लिए कामयाब रहेगी भी या नहीं।

3. लगभग 23 साल से टोयोटा हाइड्रोजन पावर्ड कारों पर काम कर रही है। टोयोटा मिराई की ईपीए अनुमानित रेंज 312 मील है और इसका रीफ्यूल टाइम केवल 5 मिनट का है। इसमें फ्रंट राडार सेंसर और कैमरा लगा है जो लेन से बाहर निकलने का पता लगाकर ड्राइवर को सचेत करता है।

4. मर्सिडीज बेंज अपनी प्लग-इन हाइड्रोजन कार को इस साल कभी भी ला सकती है। इस कार का नाम जीएलसी एफ-सेल होगा। कंपनी का कहना है कि इसकी ऑल-इलेक्ट्रिक रेंज 30 मील और हाइड्रोजन फ्यूल सेल के साथ कलेक्टिव रेंज 310 मील की होगी और इसे महज तीन मिनट में फिल किया जा सकेगा।