आर्टीफिशियल इंटैलीजैंस पर काम करती है टोयोटा की Concept-i

Punjab Kesari

जालंधर : पर्सनल असिस्टैंट का प्रयोग बढ़ता जा रहा है। स्मार्टफोन्स, लैपटॉप्स और घरों के बाद अब इस टैक्नोलॉजी ने कारों की तरफ अपना कदम बढ़ा लिया है। कुछ महीने पहले रॉल्स रायस ने अपनी कांसैप्ट कार (विजन नैक्स्ट 100) में पर्सनल असिस्टैंट की झलक दिखाई थी। अब टोयोटा ने अपनी ‘कांसैप्ट-आई’ कार को पेश किया है और इसमें बिल्ट-इन आर्टीफिशियल इंटैलीजैंस काम करती है जिसका नाम यूई (Yui) है। ''

Toyota.jpg

कांसैप्ट-आई की मुख्य खासियत

कांसैप्ट-आई के साथ टोयोटा चाहता है कि आपकी कार आपके परिवार का भी हिस्सा बन जाए। टोयोटा के मुताबिक ड्राइवर इस कार को जितना चलाएगा इसमें लगा पर्सनल असिस्टैंट उतना ही सीखेगा। इसका अर्थ है कि समय के साथ-साथ आपकी कार पहले से बेहतर होती चली जाएगी और यही कांसैप्ट-आई की मुख्य खासियत है। 

लोगों से ‘बात’ भी करती है कांसैप्ट-आई

कांसैप्ट-आई के ऑटोनोमस ड्राइविंग मोड में होने पर भी आर्टीफिशियल इंटैलीजैंस यूई सड़क पर चलने वाले लोगों से बात (कम्युनिकेट) करती है। कार के पीछे की तरफ टर्न और संकट के बारे में भी लोगों को बताती है। इसी के साथ ऑटोमैटिक और मैनुअल ड्राइव मोड में होने पर भी यह फ्रंट पर जानकारी देते हुए लोगों से ‘बात’ करती है। 

डिजाइन 

कांसैप्ट-आई के डिजाइन की बात करें तो सामने की तरफ हैप्पी लुकिंग फेस की पेशकश की गई है। कार के आगे की तरफ लगी ब्लिंक होने वाली हैड लाइट्स इसे और भी आकर्षक बनाती हैं। इसके दरवाजे इस तरह खुलते हैं कि आपको लैम्बोर्गिनी कारों की याद आ जाएगी। हालांकि इनके खुलने का तरीका थोड़ा-सा अलग है। पीछे की तरफ लोगों से कम्युनिकेट करने के लिए लाइट्स लगी हैं जो आकर्षक लगती हैं। इसके अलावा इंटीरियर की बात करें तो यह अन्य कांसैप्ट कारों की तरह है जिसमें भविष्य की झलक देखने को मिलती है।