सैकेंड हैंड कैमरा खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान

Punjab Kesari

जालंधरः प्रोफैशनल फोटोग्राफी करने का शौंक है और डी.एस.एल.आर. खरीदने के बारे में सोच रहे हैं लेकिन बजट कम होने के कारण सैकेंड हैंड कैमरे की तरफ अपना रूख करना चाहते हैं तो इन बातों का ख्याल जरूर रखें। इससे कैमरा खरीदने किसी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। 
लैंस का खास ध्यान
सैकेंड हैड DSLR कैमरा लेते समय उसमें दिए गए लैंस का सबसे खास ध्यान रखें कि उसकी कंडीशन कैसी है। कहीं उस में कोई निशान या स्क्रेच तो नहीं है। इसी के साथ ही आप कैमरा के मिरर बॉक्स को भी चैक कर लें कि कहीं उसमें कोई धूल मिट्टी के निशान तो नहीं हैं। 
मैनुअल फोक्स की सुविधा
कैमरे में यदि मैनुअल फोक्स की सुविधा दी गई है तो उसे हर तरफ से मोड कर देख लें की वह कहीं अटकता तो नहीं है। कैमरो में दिए गए डिजिटल फोकस की भी जांच कर लो कहीं ज़्यादा फोकस करने के साथ फोटो बलर्र तो नहीं हो रही।
कैमरे की बॉडी
कैमरे की बॉडी काफ़ी मायने रखती है फिर वह चाहे नया कैमरा हो या पुराना, ज़्यादातर DSLR कैमरों की बॉडी में प्लास्टिक का प्रयोग किया जाता है तो कई कैमरा में लैदर की कवरिंग भी होती है। जब भी सेकिंड हैड DSLR कैमरा ख़रीदें, उस की बॉडी को अच्छी तरह जांच लें कि कहीं उस में कोई क्रैक तो नहीं है।
डिजिटल स्क्रीन
डिजीटल और DSLR कैमरा में अब डिजिटल स्क्रीन के साथ व्यू फाइंडर की सुविधा भी रहती है परन्तु आम फोटोग्राफी के लिए लोग LCD स्क्रीन का प्रयोग ही करते हैं इस लिए कैमरा की LCD स्क्रीन को अच्छी तरह जांच लो कि कहीं उस में कोई कलर इफैक्कट तो नहीं है। 
वारंटी
अगर कैमरा 5 से 6 साल पुराना है तो आप शॉपकीपर के साथ वारंटी की बात कर सकते हो क्योंकि यदि कभी कैमरो में कोई ख़राबी आ गई तो आपको DSLR कैमरो की सर्विसिंग में अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है।