चीन दुनिया सबसे बड़े सौर ड्रोन का परीक्षण ऊंचाई पर करेगा

Punjab Kesari

जालंधर: चीन सौर उर्जा से संचालित होने वाले दुनिया के दूसरे सबसे बड़े ड्रोन के प्रदर्शन का परीक्षण अंतरिक्षण उड़ान के निकट की बुलंदियों पर करेगा। एयरोस्पेस एयरोडायनेमिक्स चीन अकेडमी के ड्रोन योजना के प्रमुख इंजीनियर शी वेन ने बताया कि इस ड्रोन के पंख का फैलाव 40 मीटर से अधिक है जो बोइंग 737 यात्री विमान से ज्यादा है।   

उन्होंने बताया कि यह ड्रोन नासा मॉडल के बाद सौर उर्जा से संचालित होने वाला दूसरा सबसे बड़ा ड्रोन है। शी के मुताबिक इसके प्रदर्शन की तकनीकी क्षमता दुनिया में सबसे उन्नत तकनीकों में से एक है। चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ ने शी को उद्धृत करते हुए बताया है कि ड्रोन उच्च उंचाई पर लंबे समय तक उडऩे में सक्षम है और इसका रखरखाव करना आसान है। इस ड्रोन का उपयोग अग्रिम चेतावनी, आपदा निगरानी, मौसम संबंधी अवलोकन और संचार के प्रसार के लिए किया जाएगा।