1000 किलोवॉट की पावर पैदा करेगी दुनिया की पहली ऑन ट्रैक/ऑफ रोड ELECTRIC SUPERCAR

  • 1000 किलोवॉट की पावर पैदा करेगी दुनिया की पहली ऑन ट्रैक/ऑफ रोड ELECTRIC SUPERCAR
You Are HereLatest News
Saturday, November 25, 2017-6:40 PM

जालंधर : प्रदूषण की बढ़ रही समस्या को देख दुनिया भर की इलैक्ट्रिक वाहन निर्माता कम्पनियों ने अपने वाहनों को और बेहतर व तेज बनाने का काम शुरू कर दिया है। हाल ही में टैस्ला ने अपनी तेज व एक चार्ज में 1000 किलोमीटर तक चलने वाली रोडस्टर का खुलासा किया है। अब ताइवान की राजधानी ताइपेइ (Taipei) की इलैक्ट्रिक रेसिंग कार निर्मात कम्पनी ने एक ऐसी कार विकसित की है जो 1,000 किलोवॉट (लगभग 1,341-HP) की पावर पैदा करेगी और महज 1.8 सैकेंड में ही 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ लेगी। इस मिस R सुपरकार को क्जिंग मोबिलिटी (XING mobility) नामक कम्पनी ने बनाया है। कम्पनी के मुताबिक इस इलैक्ट्रिक सुपर कार को खास तौर पर लोगों के दिलों में से इस वहम को दूर करने के लिए बनाया गया है कि इलैक्ट्रिक वाहन तेज नहीं चल सकते। इस कार को टैस्ला की 1.89 सैकिंड में 0 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड पकडऩे वाली नई रोडस्टर से भी तेज माना जा रहा है। कम्पनी फिलहाल इस इलैक्ट्रिक ऑन रोड/ऑफ रोड सुपरकार पर टैस्ट कर रही है। लेकिन इसके प्रोटोटाइप की तस्वीरें जारी कर दी गई है जिसे वर्ष 2018 तक पूरी तरह से बना कर तैयार किया जाएगा।

 

300 km/h की टॉप स्पीड
इस इलैक्ट्रिक सुपरकार को 300 किलोमीटर प्रति घंटा की टॉप स्पीड तक पहुंचाया जा सकता है। कम्पनी ने जानकारी दी है कि 200 किलोमीटर प्रति घंटा की टॉप स्पीड पकडऩे में यह कार सिर्फ 5.1 सैकेंड का ही समय लेगी जो एक पेट्रोल या डीजल से चलने वाली कार से कहीं ज्यादा है। 


कार में लगाया गया लिक्विड कूलिंग सिस्टम
इस मिस R कार को बनाने में कम्पनी के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह थी कि इतनी तेज स्पीड से कार चलाने पर इसके पाट्र्स गर्म ना हों। इसी बात पर ध्यान देते हुए क्जिंग मोबिलिटी ने इसके बैटरी पैक्स को सेफ गार्ड करने के लिए यूनिक लिक्विड कलिंग सिस्टम लगाया है। कम्पनी ने अलग-अलग मॉड्यूल्स बनाए जिनमें 42 लिथियम आयन सैल्स लगाए गए और कुल मिलाकर 98 मॉड्यूल्स को कार में लगाया गया है यानी 4,116 सैल्स इस कार को काम करने के लिए एक साथ पावर देंगे। इन मॉड्यूल्स में 3m's Novec 7200 इंजीनियरिंग फ्यूड घूमेगा जो इन्हें गर्म नहीं होने देगा व आग लगने से भी बैटरियों को बचाएगा। 


5 मिनट में बदली जा सकती है बैटरियां
इस इलैक्ट्रिक सुपर कार की रेंज को टैस्ला की नई रोडस्टर (1000 किलोमीटर) से कम कहा गया है लेकिन कम्पनी ने बताया है कि सिर्फ 5 मिनट में इसमें लगाई गई सभी बैटरीयों को फुल चार्ज बैटरीयों के साथ बदला जा सकता है। जिससे इसकी रेंज को और भी बढ़ाया जा सकेगा। उम्मीद की जा रही है कि वर्ष 2019 तक इसकी प्रोडक्शन शुरू हो जाएगी और इसे 1 मिलीयन डॉलर में उपलब्ध किया जाएगा। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !