घर पर घाव की देखभाल करने के काम आएगी यह एप

  • घर पर घाव की देखभाल करने के काम आएगी यह एप
You Are HereLatest News
Thursday, January 25, 2018-10:39 AM

जालंधर : घाव का उपचार करवाने के बाद कई बार उसमें इन्फैक्शन होने से मरीज को दोबारा से अस्तपताल में भर्ती होना पड़ता है जिससे जोखिम तो बढ़ता ही है, साथ ही समय व पैसे दोनों की बर्बादी होती है। इसी बात पर ध्यान देते हुए मरीज की घर पर ही मदद करने के लिए एक ऐसी एप को बनाया गया है जो घाव की निगरानी व देखभाल करने में मदद करेगी। वाऊंड केयर नामक इस एक्सपैरिमैंटल एप को यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन, मैडीसन के वैज्ञानिकों ने डिवैल्प करवाया है। इसे एक्सपैरिमैंटल एप इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि अभी इस एप की टैस्टिंग की जा रही है। माना जा रहा है कि इस एप के जरिए घर पर ही घाव की निगरानी करने और वह कितने दिनों में ठीक होगा, उसका पता लगाया जा सकेगा। 

 

40 सर्जरी पेशैंट्स पर किया गया टैस्ट
टैस्ट के दौरान 40 वैस्कुलर सर्जरी पेशैंट्स ने घाव की फोटो को प्रतिदिन इस एप के जरिए सर्वर पर अपलोड किया है। इस दौरान उन्हें एप पर ही घाव के लक्षणों से जुड़े कुछ सवालों के जवाब देने पड़े जिसके बाद नर्सों द्वारा उन्हें सर्जिकल इन्फैक्शन्स से बचने के तरीके बताए गए। इस एप के जरिए नर्सों ने दो सप्ताह तक रोजाना 9.7 घंटों की समय अवधि में रोगियों को निर्देश दिए।

PunjabKesari

 

बिना ट्रेनिंग के चला सकते हैं ये एप
इस टैस्ट में शामिल होने वाले 90 प्रतिशत रोगियों ने कहा है कि इस एप को चलाना काफी आसान है। वहीं नर्सों ने प्रतिक्रिया देते हुए बताया है कि ज्यादा वर्कलोड होने के कारण उन्हें रोगियों के इन सवालों का जवाब देने में काफी मुश्किल हुई और इसके लिए उन्हें समय निकालना पड़ा। अब माना जा रहा है कि इस एप को उपलब्ध करने से पहले एक केयर प्रोग्राम के साथ जोड़ा जाएगा जिसमें नर्सें इसी तरह रोगियों के इलाज में मदद करेंगी लेकिन इस प्रोग्राम में समय की बाधा नहीं होगी यानी वे कभी भी समय मिलते ही रोगियों को जवाब दे सकेंगी।  

 

इस अध्ययन के प्रमुख लेखक डॉक्टर रीबीका एल गंटर ने कहा है कि हम एक प्रोटोकोल के तहत इस एप को चलाएंगे जहां रोगियों का इलाज करने के लिए उनकी देखभाल की जा सकेगी। उन्होंने कहा है कि इस एप की मदद से मरीज का घर पर ही इलाज किया जा सकेगा और उसे अस्पताल में दोबारा से भर्ती करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। फिलहाल इस एप की उपलब्धता को लेकर कोई जानकारी सामने नहीं आई है। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन