टेस्ट में फेल हुई एप्पल मैकबुक प्रो 2016 सीरीज - रिपोर्ट

Punjab Kesari

जालंधर - एप्पल की नई मैकबुक प्रो को उपभोक्ता रिपोर्ट्स के मुताबिक निर्धारित की गई रेटिंग से कम रेटिंग्स मिली हैं। हाल ही में एप्पल मैकबुक प्रो 2016 पर कई तह के टेस्ट किए गए जिनमें डिस्प्ले, परफॉरमेंस और बैटरी लाइफ जैसे टेस्ट आदि शामिल थे, लेकिन हैरानी की बात तो यह है कि इसके बैटरी टैस्ट के रिजल्ट्स काफी खराब रहे। इन टेस्ट्स के बाद एप्पल के सीनियर वाईस प्रेजिडेंट फिलिप शिलर ने ट्वीट कर कहा कि यह परिणाम कंपनी के व्यापक प्रयोगशाला परीक्षण से मैच नहीं हो रहे हैं। कंपनी सी.आर. को बैटरी परीक्षण को समझने को कह रही है। इसके अलाव उन्होंने ट्वीट में एक लिंक भी अटैच किया है। 

screenshort12

आपको बता दें कि कांसुमर रिपोर्ट्स बनाने वाली टीम ने टच बार वाले 13-इंच मैकबुक प्रो, टच बार के बिना 13-इंच मैकबुक प्रो और 15-इंच मैकबुक प्रो पर परीक्षण किया। आपको जानकर हैरानी होगी कि इनकी बैटरी को टेस्ट करते समय जो परिणाम मिले वह एक दूसरे से काफी भिन्न थे। 

टेस्ट परिणाम -

इन पर लगातार तीन टेस्ट्स किए गए जिसमें टच बार वाला वेरिएंट पहले ट्रायल में 16 घंटे चला, दूसरे में 12.75 घंटे और तीसरे में 3.75 घंटे। वहीं बिना टच बार वाला 13 इंच वेरिएंट पहले ट्रायल में 19.5 घंटे चला और अगले दोनों ट्रायलों में करीब 4.5 घंटे ही चल पाया। वही बात की जाए 15 इंच मॉडल की तो यह पहले ट्रायल में 18.5 घंटे चला जबकि दूसरे में इसका बैकअप 8 घंटों का ही रह गया।