एप्पल मना रहा है 10 वीं वर्षगांठ, जानिए iPhone में क्या-क्या हुआ बदलाव

Punjab Kesari

जालंधरः अमरीका की मल्टीनेशनल टेक्नोलॉजी कंपनी एप्पल आज आईफोन की 10वीं वर्षगांठ मना रहा है। आपको बता दें कि 9 जनवरी 2007 को एप्पल के CEO तथा संस्थापक स्टीव जॉब्स ने सान फ्रांसिस्को के मैक वर्ल्ड कांफ्रैंस में आई फोन का अनावरण किया। आइए जानते है इन 10 सालों में एप्पल ने कौन से प्रोडक्ट्स और आईफोन्स में क्या-क्या बदलाव किएः-

29 जून 2007 : 

अमरीका के एप्पल स्टोर्स में लोगों की भारी मांग पर सायं 6.00 बजे आईफोन (2 जी तकनीक सहित) बिक्री के लिए प्रस्तुत हुआ। इस डिजाइन को चीफ डिजाइन आफिसर जॉनी आइव तथा उनकी 15 सदस्यों वाली शक्तिशाली टीम की देखरेख में बनाया गया। आप को बता दें कि 10 सितम्बर 2007 में आईफोन की बिक्री एक मिलियन के पार हो गई। 12 नवम्बर को आईफोन को हमेशा के लिए बदलने पर टाइम मैगजीन के कवर पृष्ठ पर रखा गया। इसके बाद आई फोन ने यू.के., फ्रांस और जर्मनी के साथ इंटरनैशनल रोल आऊट की शुरूआत की।

जुलाई 2008 : 

2008 में आई फोन 3 G की बड़ी प्रशंसा के साथ बिक्री के लिए आया। पहले डिवाइस की ही तरह परन्तु जी.पी.एस., 3 जी. डॉटा और ट्राई बैंड फंक्शंस के साथ। एप्प स्टोर  खुले, जिससे आई फोन यूजर्स को एप्लीकेशंस को डाऊनलोड एवं खरीदने की सहूलियत मिली। डिवैल्पर्ज को एप्प से होने वाली आमदनी का 70 प्रतिशत हिस्सा मिला। 

19 जून 2009 : 

आई फोन 3G ‘एस’ मतलब ‘स्पीड’ के लिए आया। अन्य सुधारों में उच्च रैस्यूलूशन 3 एम.पी. कैमरा तथा वीडियो क्षमता भी शामिल हुई। 

3 अप्रैल 2010 : 

आईपॉड बिक्री के लिए खुला, जिसमें 9.7 इंच टच स्क्रीन की विशेषता थी। 24 जून को आई फोन 4 ने हाई रैजोल्यूशन के साथ रिटेल में धमाका किया। रेटिना डिस्पले एवं फेसटाइम वीडियो चैट अतिरिक्त फ्रंट फेसिंग कैमरे के इस्तेमाल के साथ।

5 अक्तूबर 2011 : 

स्टीव जॉब्स की अग्नाशय कैंसर से मौत हो गई, उनके अंतिम शब्द थे ‘‘ओह वाऊ ओह वाऊ, ओह वाऊ’’।आई फोन 4 एस. प्रमुख भीतरी उन्नयन तथा 8 एम.पी. कैमरा के साथ 1080 पी वीडियो रिकार्डिंग को आई क्लाऊड एंड आई मैसेज के साथ पेश किया गया।

21 सितम्बर 2012 : 

एप्पल के नए सी.ई.ओ. टिम कुक ओवरसीज आईफोन 5, लंबी स्क्रीन के साथ।

16 मई 2013 : 

एप स्टोर ने 50 बिलियन डाऊनलोड का निशाना हासिल किया। प्रत्येक सैकेंड में उपभोक्ता 800 एप्स डाऊनलोडिंग कर रहे हैं। 20 सितम्बर को आईफोन 5 एस एवं आई फोन 5 सी बिक्री के लिए तैयार हुए। पहले वालों में  प्रमुख  भीतरी सुधार किए गए, जबकि बाद वालों  में सस्ती रंगदार प्लास्टिक चैसिज उपलब्ध करवाई गईं।

19 सितम्बर 2014 : 

आई फोन 6 एवं आई फोन 6 प्लस स्टोरों में पहुंचे जिनमें क्रमश: 4.7 इंच तथा 5.5 इंच डिस्पले था। इनमें तेज रफ्तार चिप, बेहतर वाई-फाई, उन्नत कैमरे एवं एप्पल पे शामिल थे।

24 अप्रैल 2015 : 

एप्पल वॉच को लांच किया गया। 25 सितम्बर को आई फोन 6 एस. तथा आईफोन 6 एस. प्लस बिक्री के लिए तैयार हो गए। अपग्रेड ने हार्डवेयर को बेहतर किया और 3 डी. टच  को प्रस्तुत किया, जिसने प्रैशर संवेदनशील टच एनपुट्स को सक्षम किया।

31 मार्च, 2016 : 

आई फोन एस.ई. (विशेष संस्करण) ने आईफोन 6 एस. की कार्यशैली को आई फोन 5 एस. फार्म फैक्टर में दबा दिया। 16 सितम्बर  को आई फोन 7, आई फोन 7 प्लस जारी हुए। हैडफोन जैक को हटाया गया, जल प्रतिरोध तथा 12 एम.पी. कैमरे शामिल।

2017 : आईफोन 8 के बारे में अफवाह थी कि इसके फ्रंट सर्फेस पर कोई भी होम बटन प्प्रदर्शित नहीं होगा।

आई फोन प्रोडक्शन साइकल

आपको बता दें कि एप्पल क्यूपरटीनो, कैलीफोर्निया में आई फोन डिजाइन करता है। पुर्जे ज्यादातर एशिया से जुटाए जाते हैं और फाक्सकॉन (झेंगझोऊ, शेनझान) व पेगाट्रान (शंघाई) को भेजे जाते हैं, फैक्टरियां क्यूपरटीनो में एप्पल द्वारा अंतिम रूप दिए गए आई.ओ.एस. आप्रेटिंग सिस्टम के साथ लाखों की संख्या में आईफोन्स असैम्बल करती है। सम्पूर्ण आईफोन वैश्विक आबंटन केन्द्रों पर भेजे जाते हैं तथा एक फैड एक्स बोइंग 777 450,000 आई फोन्स को ले जा सकता है।  एप्पल मीडिया इवैंट में नए आई फोन की घोषणा करता है ताकि तत्काल तौर पर पूरे विश्व में उपभोक्ताओं को उपलब्ध हो सके।