चीन ने किया स्थिर चुंबकीय क्षेत्र का विकास

Punjab Kesari

बीजिंग : चीनी वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्होंने एक विश्व स्तरीय स्थिर चुंबकीय क्षेत्र तैयार कर लिया है, जिसकी तीव्रता 40 टैस्ला है। इससे पहले अमरीकी चुंबकीय उपकरण की मदद से एेसा क्षेत्र बनाया जा चुका है, जिसकी तीव्रता 45 टैस्ला है।  

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने कहा कि आठ साल के अनुसंधान के बाद चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज के हेफेई इंस्टीट्यूट ऑफ फिजीकल साइंस ने एक हाइब्रिड चुंबक तैयार की है, जिसमें एक 30 टैस्ला की चुंबक को 10 टैस्ला के अतिचालक चुंबक में रखा गया है।   

चीन के अन्हुई प्रांत की राजधानी हेफेई स्थित संस्थान के चुंबक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी केंद्र द्वारा विकसित किए गए उपकरण ने कल चार लाख गौस या 40 टैस्ला का स्थिर चुंबकीय क्षेत्र पैदा किया। संस्थान ने कहा कि चीन की उच्च क्षेत्रीय चुंबकीय प्रौद्योगिकी के लिए एक अहम उपलब्धि है।   

इस समय अमरीका के स्थिरताकारी चुंबक उपकरण विश्व का सबसे मजबूत क्षेत्र पैदा कर सकता है, जिसकी तीव्रता 45 टैस्ला होती है। अंतरराष्ट्रीय मानक पद्वति टेस्ला का इस्तेमाल चुंबकीय फ्लक्स घनत्व के मात्रक के रूप में करती है।