चीन करेगा रात में निगरानी करने वाले उपग्रह का प्रक्षेपण

Punjab Kesari

जालंधर: चीन रात के समय जमीन पर बेहद प्रकाशवान वस्तुओं की पहचान करने में सक्षम अपने पहले रिमोट-सेंसिंग उपग्रह का प्रक्षेपण करने के लिए तैयार है। सरकारी चाइना न्यूज सर्विस ने परियोजना के प्रमुख वैज्ञानिक ली डेरेन के हवाले से कहा 10 किलोग्राम वजन वाले इस छोटे उपग्रह लूआेजिया-1ए हुबेई प्रांत के वुहान विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किया जा रहा है। यह उपग्रह एक बेहद संवेदनशील रात्रिकालीन कैमेरे से लैस होगा, जो 100 मीटर तक की विभेदन क्षमता वाला होगा। 

चाइनीज अकेडमी ऑफ साइंसेज के शिक्षाविद ली ने कहा कि यह उपग्रह इस साल प्रक्षेपित किया जाना है। यह यांग्त्जी नदी पर बने पुलों जैसे अपने तय पर्यवेक्षण क्षेत्र में बेहद प्रकाशवान संरचनाओं की पहचान करने में सक्षम होगा। उन्होंने कहा कि लुआेजिया-1ए द्वारा ली गई तस्वीरें अमेरिका में विकसित उपग्रहों की तुलना में साफ होंगी।  

ली ने कहा लुआेजिया-1ए का इस्तेमाल आर्थिक योजनाकारों और विश्लेषकों को उनके अनुसंधान में मदद करेगा। इसके साथ ही यह नीतिनिर्माताओं को विदेशी व्यापार से जुड़े उपायों पर फैसला लेने के लिए आंकड़े उपलब्ध करवाएगा। चीन की योजना इस साल अपने महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष कार्यक्रम को विस्तार देते हुए रिकॉर्ड 30 अंतरिक्ष अभियानों को अंजाम देने की है।