पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले पहले अमरीकी का निधन

Punjab Kesari

ओहियो : पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले पहले अमरीकी और विश्व के सबसे वृद्व अंतरिक्ष यात्री जॉन ग्लेन का आज यहां निधन हो गया। वह 95 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी और 2 बच्चे है। 

ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी कॉलेज के जेम्स कैंसर अस्पताल के प्रवक्ता हैंक विल्सन ने बताया कि जेम्स कैंसर अस्पताल में उनका निधन हो गया। उनके स्वास्थ्य में पिछले कुछ दिनों लगातार गिरावट हो रही थी। 2011 में उनके घुटने का ऑपरेशन किया गया था और 2014 में उनके दिल की सर्जरी हुई था।  दो बार अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले जॉन के परिवार की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि जॉन को 25 नवंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने तीसरी और आखिरी बार पृथ्वी को छोडा है।

जॉन सबसे उम्रदराज अंतरिक्ष यात्री थे और‘राईट स्टफ’के नाम से जाने जाने वाले सात अंतरिक्ष यात्रियों की टीम के आखिरी जीवित सदस्य थे। उनका जन्म 18 जुलाई 1921 को कैंब्रिज में हुआ था। दूसरे विश्व युद्व में लडाकू पायलट और कोरिया युद्व में उन्होंने अहम रोल अदा किया था। अमरीकी सेना और अंतरिक्ष कार्यक्रम में 23 साल की सेवायें देने के बाद वह 24 वर्षों तक ओहियो से डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद भी रहे। देश के लिये किये गये योगदान के लिये 2012 में राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘प्रेसिडेंशियल मेडल ऑफ फ्रीडम’ से नवाजा था।   

ओबामा ने जॉन के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि जॉन के निधन से देश ने एक हीरो खो दिया। 1962 में जॉन ने जब अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी थी तब उनके साथ अमरीका की उम्मीदों ने भी उड़ान भरी थी। जब उनका अंतरिक्ष यान ‘फ्रेंडशिप 7’ अंतरिक्ष की कक्षा में पहुंचा तो पृथ्वी की कक्षा में पहुंचने वाले पहले अमरीकी बन उन्होंने यह एहसास कराया कि नई खोज की कोई सीमा नहीं है।   

देश के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में जॉन ग्लेन अग्रणी अंतरिक्ष यात्री है। वह एक नायक है। भविष्य के अंतरिक्ष खोजकर्ता और आने वाले पीढिय़ों के लिए वह प्रेरणा स्रोत है।