‘सौर ऊर्जा के संग्रहण से बढ़ता है ऊर्जा उपभोग और उत्सर्जन’

Punjab Kesari

जालंधर: सौर ऊर्जा को सीधे ग्रिड पर भेजने के बजाय यदि उसे रात के समय इस्तेमाल करने के लिए संग्रहित करके रखा जाता है तो इससे ऊर्जा का उपभोग और उत्सर्जन दोनों ही बढ़ता है। यह दावा एक नए अध्ययन में किया गया है।  

शोधकर्ताओं ने कहा कि सौर पैनल लगे घरों को सौर ऊर्जा के बड़े आर्थिक एवं पर्यावरणीय लाभ लेने के लिए संग्रहण करने की जरूरत नहीं है। ऑस्टिन के टेक्सास विश्वविद्यालय में प्रोफेसर माइकल वेबर ने कहा, ‘‘अच्छी खबर यह है कि सौर पैनलों को उपयोगी या किफायती बनाने के लिए संग्रहण करना जरूरी नहीं है।’’  

वेबर ने कहा, ‘‘यह मौजूदा मिथक को भी तोड़ता है कि वितरित सौर ऊर्जा को समाकलित करने के लिए संग्रहण जरूरी है क्योंकि यह रात को ऊर्जा पैदा नहीं करता।’’  वेबर और अमरीकी ऊर्जा मंत्रालय के शोधार्थी रॉबर्ट फेयर्स ने एक छोटी ग्रिड का हिस्सा बने हुए टेक्सास के 100 घरों के विद्युत डाटा का इस्तेमाल किया। 

उन्होंने पाया कि सौर ऊर्जा को रात के समय इस्तेमाल करने के लिए यदि संग्रहित करके रखा जाए तो इससे किसी घर का वार्षिक ऊर्जा उपभोग बढ़ जाता है क्योंकि चार्ज और डिस्चार्ज के समय संग्रहण में कुछ ऊर्जा खर्च होती है।