धरती की मिट्टी में सोच से कहीं पहले पनपने लगा था जीवन

Punjab Kesari

वाशिंगटन : पृथ्वी की मिट्टी में जीवन तीन अरब साल पहले से पनपना शुरू हो गया था। यह जानकारी ऑस्ट्रेलिया के प्राचीन भूभागों के सूक्ष्म जीवाश्मों का अध्ययन करने वाले वैज्ञानिकों ने दी है। शोधकर्ताओं ने कहा कि ये सूक्ष्म जीवाश्म संभवत: पूर्ण जीवों का प्रतिनिधित्व करते हैं। 
ऑस्ट्रेलिया में 3 अरब साल पुरानी चट्टानों को लंबे समय से समुद्री चट्टान माना जाता था।  अमरीका के आेरेगन विश्वविद्यालय के ग्रेगरी रेटलैक ने कहा कि इन चट्टानों के धूल भरे लवणीय खनिजों का करीब से अध्ययन करने पर पाया गया है कि उन्हें जमीन पर वाष्पीकरण का शिकार होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि चट्टानों में जो खनिज और रासायनिक अवशेष पाए गए हैं, वे मिट्टी के बहुत पहले हवा से प्रभावित होने की आेर इशारा करते हैंं।   
रेटलैक ने कहा कि पृथ्वी पर प्राचीन काल में मिट्टी के अंदर जीवन सिर्फ मौजूद ही नहीं था बल्कि पनप भी रहा था। सौर मंडल का निर्माण और पृथ्वी की उत्पत्ति लगभग 4.6 अरब साल पहले हुई, जिसका अर्थ है कि जीव लगभग तीन अरब साल पहले मौजूद रहे होंगे।