राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है साइबर सिक्योरिटी

Punjab Kesari

जालंधर:  साइबर सुरक्षा के एक शीर्ष अधिकारी ने आज कहा कि किसी संगठन का 100 फीसदी साइबर सुरक्षा के साथ होना बेहद मुश्किल है क्योंकि नई प्रौद्योगिकियों का विकास साइबर अपराध को बढ़ा रहा है। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक गुलशन राय ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा, हमें अपनी प्रणाली में बेहतर क्षमता की आवश्यकता है क्योंकि कुछ भी 100 फीसदी सुरक्षित नहीं है। अधिक और गहराई वाली झेलने की क्षमता हमें हमारी आधारभूत ढांचा को सुरक्षित रखने में मदद करेगा। 

उन्होंने कहा कि कोई भी संगठन 100 फीसदी सुरक्षित नहीं हो सकता क्योंकि संगठन के भीतर क्षमता का निर्माण करके काफी सारे साइबर हमले को रोका जा सकता है।  एक आयोजन में राय ने देश में संगठनों की साइबर सुरक्षा पर ईवाई सर्वे के नतीजे जारी किए जिसमें कहा गया है कि 75 फीसदी भारतीय उपक्रमों ने स्वीकार किया है कि उनका साइबर कामकाज उनकी आवश्यकता के अनुरूप नहीं हैं जबकि 38 प्रतिशत ने कहा है कि उनका निदेशक मंडल साइबर हमले के जोखिमों के बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं रखता।