फेक न्यूज को इस तरह रोकेगा फेसबुक

Punjab Kesari

जालंधरः जालंधरः सोशल नैटवर्किंग साइट फेसबुक अपने यूजर्स के लिए हर बार कुछ न कुछ लेकर आती रहती है । इस बार फेसबुक ने फेक न्यूज से निपटने के लिए अपने नए टूल्स की शुरुआत कर दी है क्योंकि फंसबुक पर कुछ ऐसी फेक न्यूज वायरल हो रही है जिससे कई बार यूजर्स भ्रमित हो जाते हैं । इससे निपटने के लिए फेसबुक ने ऐसा फीचर्स डिजाइन किया है जिससे न्यूज फीड में शेयर की जा रहीं फेक न्यूज को रिपोर्ट करना आसान हो जाएगा। इसके अलावा कंपनी चार स्वतंत्र फैक्ट चेकिंग कंपनियों के साथ भी काम कर रही है। इसके तहत वायरल खबरों की पड़ताल की जाएगी और गलत पाए जाने पर उसे हटाया भी जाएगा।

फेसबुक खुद हर पोस्ट की सत्यता की जांच नहीं करेगा बल्कि फेसबुक के सीईओ जकरबर्ग ने कहा है कि फेसबुक इसके लिए तीसरी पार्टियों और कम्यूनिटी पर भरोसा करेगा। इसके लिए फेसबुक कुछ फैक्ट चेकिंग कंपनियों का सहारा लेगा। अगर किसी स्टोरी को फेसबुक की तरफ से गलत मार्क कर दिया गया तो जैसे ही उस स्टोरी को कोई यूजर शेयर करेगा उसे चेतावनी दी जाएगी। अब फेक न्यूज पर एक रेड लेबल होगा जो बताएगा कि उसे फैक्ट चेकर्स ने गलत मार्क किया है। यूजर्स उस पर क्लिक करके यह जान सकेंगे कि उस खबर को गलत या संदेहास्पद मानने की वजहें क्या हैं। "learn why this is disputed" लिंक पर क्लिक करके यूजर्स इस बारे में ज्यादा डिटेल में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। फेसबुक के होमपेज पर न्यूज फीड में भी ऐसी फेक न्यूज नीचे दिख सकती हैं। इसके बावजूद अगर आप न्यूज पोस्ट करते है तो फेसबुक के एडवर्टाइजिंग टूल के जरिए आपकी न्यूज को प्रोमोट नहीं किया जाएगा।