Facebook लाया ब्रेन सेंसिग टेक्नॉलॉजी, सिर्फ सोचने से ही स्क्रीन पर खुद टाइप होने लगेंगे शब्द

Punjab Kesari

जालंधरः Facebook अपने एेप को बढ़िया बनाने के लिए हमेशा उसमें नए-नए फीचर्स शामिल करता रहता हैं। Facebook पिछले दो सालों से Building 8 नाम के एक सीक्रेट प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। दरअसल, यह प्रोजेक्ट माइंड रीडिंग तकनीक यानी दिमाग पढ़ने वाली टेक्नॉलॉजी पर है। इसके अलावा इवेंट के दौरान इस प्रोजेक्ट के बारे में ऐसी कई चीजे बताई गई हैं जिसे जानकर लोगों को काफी हैरानी हुई है।

रिर्पोट के मुताबिक, फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्क ने कहा कि सोशल नेटवर्क फेसबुक ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस टेक्नॉलॉजी पर काम कर रही है जो एक दिन सिर्फ दिमाग के जरिए बातचीत करना काफी आसान बना देगा। जरा सोचिए, आप जो भी सोच रहे हैं वो बिना हाथों से टाइप किए स्क्रिन पर टाइप हो रहा है। 

ऐसा ही कुछ एक इंवेट के दौरान हुआ है। एक ऐसी महिला जो बोल या सुन नहीं सकती है। वो ना अपना हाथ हिला सकती है और नही टाइप कर सकती है लेकिन इस वीडियो में दिखाया गया है कि वो सिर्फ सोच रही हैं और स्क्रीन पर वर्ड्स खुद ब खुद टाइप हो रहे हैं। हालांकि यह हमारे स्मार्टफोन और कंप्यूटर में टाइप किए गए वर्ड्स से काफी स्लो है, लेकिन कंपनी के मुताबिक जब यह टेक्नॉलॉजी हकीकत बनेगी तो इसकी स्पीड भी बढ़ जाएगी।

इस प्रोजेक्ट की हेड रेगीना ने यह भी खुलासा किया है कि उनकी टीम सिर्फ ब्रेन वेभ के जरिए एक मिनट में 100 वर्ड्स टाइप करने पर काम कर रही है। इसके अलावा फेसबुक और भी कई ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है जिसमें इंसानों की स्किन के जरिए स्पोकेन लैंग्वेज डिलिवर करना भी शामिल है जो काफी हैरान करने वाला है। यानी स्किन के जरिए भी इंसान सुन सकता है।