आतंकवाद का सामना करने के लिए फेसबुक लेता है आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद

Punjab Kesari

जालंधरः फेसबुक पर अपने नेटवर्क से आतंकी गुटों द्वारा डाली गई सामग्री की पहचान करने और उनको हटाने के लिए सरकार ने दबाव डाला है। फेसबुक के अधिकारियों ने एक ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से बताया कि कंपनी आतंकी सामग्री का पता लगाने और उसे तुरंत हटाने के लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करती है ताकि यूजर्स के देखने से पहले इसे हटा दिया जाए।

घटती लोकप्रियता के कारण फेस बुक अपनी पीठ खुद ठोक रहा है और अपने आप को बेहतर सेक्यूरिटी फीचर से युक्त बताने के कोशिश कर रहा हैं | फेसबुक ने अपनी पॉलिसी में बदलाव किया है। इसकी पहले की पॉलिसी यह थी कि अगर यूजर्स किसी कॉन्टेंट को संदिग्ध बताते थे तब फेसबुक उसकी समीक्षा करता था। कंपनी की ओर से यह भी कहा गया है कि जब संभावित 'आतंकी पोस्ट' की रिपोर्ट्स प्राप्त होती है तो उसकी तुरंत समीक्षा की जाती है।