इस देश में LinkedIn एप्प पर लगा बैन

Punjab Kesari

जालंधरः बिजनैस और एम्प्लॉयमेंट-ओरिएंटेड सोशल नेटवर्किंग सर्विस लिंक्डइन पर स्थानीय कानूनों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए रूस के अधिकारियों ने एप्पल और गूगल से अपने-अपने एप्पप स्टोर से इसे हटाने के लिए कहा है। रूसी कानून के अनुसार किसी इंटरनैट कंपनी को रूस की सीमा के अंदर रहने वाले अपने यूजर्स का पूरा आंकड़ा स्टोर करना पड़ता है। हाल ही में रूस की एक अदालत ने माइक्रोसॉफ्ट के स्वामित्व वाली सोशल साइट लिंक्डइन की सर्विसिस ब्लॉक कर दी थी। एक अखबार के अनुसार, एप्पल ने इस बात की पुष्टि की है कि एक महीने पहले उनसे रूस में अपने एप्प स्टोर से लिंक्डइन एप्प को हटाने के लिए कहा गया था। 

रिपोर्ट में कहा गया है, 'हालांकि गूगल ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि उसने रूस में अपने एप्प स्टोर से लिंक्डइन एप्प हटाया था या नहीं। गूगल ने यह जरूर कहा कि उसने रूस में स्थानीय कानूनों का पालन किया है' इस बीच लिंक्डइन ने प्रतिक्रिया में कहा है कि कंपनी रूस में अपनी सर्विसिस ब्लॉक किए जाने पर रूस के नियामकों से 'निराश' है।

लिंक्डइन के प्रवक्ता निकोल लेवरिच के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है, ‘इससे रूस में हमारे सदस्यों और कारोबार में विकास के लिए हमारे मंच का उपयोग करने वाली कंपनियों तक हमारी सेवाएं पहुंचने से रोकी गईं।’ रूस में लिंक्डइन के यूजर्स की संख्या लाखों में है।