सावधान! आज फिर हो सकता है साइबर अटैक, ऐसें बचाएं अपना कंप्यूटर

Punjab Kesari

जालंधरः भारत समेत दुनियाभर के 100 देशों में शुक्रवार को हुए साइबर अटैक के बाद सोमवार को फिर से अटैक की आशंका जताई जा रही है। रविवार को एक सिक्‍युरिटी रिसर्चर ने साइबर अटैक की वॉर्निंग दी। इसे देखते हुए भारत समेत दुनियाभर के बैंक, एयरपोर्ट्स, टैलीकॉम नैटवर्क्‍स और स्‍टॉक मार्केट्स को अलर्ट किया गया है। हिदायत दी गई है कि वे ऐसे अटैक से बचने के लिए खुद को तैयार रखें। इससे बचने के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएं। इससे बचने के लिए ये कदम जल्द से जल्द उठाने चाहिए:

तुरंत लें अपनी फाइलों का बैकअप

बिना देर किए अपनी सभी फाइलों का एक अलग सिस्टम में बैकअप ले लें। इसके लिए सबसे बेहतर एक एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव रहेगी जो इंटरनैट से जुड़ी न हो। ऐसे में अगर आप साइबर अटैक का शिकार होते भी हैं, तब भी आपकी सारी इन्फर्मेशन आपके पास सुरक्षित रहेगी और हैकर्स फिरौती वसूलने के लिए उसका फायदा नहीं उटा पाएंगे।

संदिग्ध ई-मेल्स, वैबसाइट्स और ऐप्स से सावधान

रैंसमवेयर के काम करने के लिए यह जरूरी होता है कि हैकर्स शिकार बनाए जाने वाले सिस्टम में उस खतरनाक सॉफ्टवेयर डाउनलोड करें। इसी के जरिए बाद में अटैक किया जाता है। फर्जी ई-मेल्स, वैबसाइट्स पर दिखने वाले संदिग्ध ऐड्स और अनवेरिफाइड ऐप्स का इस्तेमाल कर के ही इन सॉफ्टवेयर्स को सिस्टम में इंस्टॉल किया जाता है। ऐसे में हमेशा सावधान रहें और गैर-जरूरी ई-मेल्स और वैबसाइट्स को खोलने से बचें। ऐसे एप्प को कभी इंस्टॉल न करें जिन्हें ऑफिशल स्टोर द्वारा वेरिफाई न किया गया हो। साथ ही कोई भी प्रोग्राम इंस्टॉल करने के पहले उसका रिव्यू जरूर पढ़ें।

ऐंटीवाइरस का इस्तेमाल करें

किसी भी ऐंटीवाइरस का इस्तेमाल कर के अपने सिस्टम में रैंसमवेयर को डाउनलोड होने से रोका जा सकता है। ज्यादातर ऐंटीवाइरस प्रोग्राम्स ऐसे फाइलों को स्कैन कर लेते हैं जिनमें रैंसमवेयर होने की आशंका रहती है। इसके अलावा सीक्रिट इंस्टॉलेशन्स को भी ऐंटीवाइरस रोक पाने में सक्षम होते हैं।

हमेशा अपडेट्स इंस्टॉल करें

अपने सॉफ्टवेयर को हमेशा अपडेट रखें। कंपनियां अकसर कमजोर कड़ियों को दुरुस्त करने के लिए अपडेट्स प्रोवाइड करती रहती हैं। ऐसे में आपके लिए यह जरूरी है कि सॉफ्टवेयर का सबसे लेटेस्ट वर्जन आपके सिस्टम में मौजूद रहे।

फिरौती कभी न दें

रैंसमवेयर का शिकार होने वाले लोगों को किसी भी सूरत में फिरौती न देने की सलाह दी जाती है। ऐसा करने से साइबर अपराधियों का दुस्साहस बढ़ता है और यह भी हो सकता है कि वे पैसा लेने के बाद भी आपकी फाइलें न लौटाएं। कुछ ऐसे प्रोग्राम्स भी आते हैं जो आपकी खराब हो चुकी फाइलों को ठीक करने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आपने बैकअप ले रखा है तो आप फिर से अपनी फाइलों को सिस्टम में अपलोड कर सकते हैं।