इन 5 तरीकों से जानें कहीं आपका कंप्यूटर हैक तो नहीं?

Punjab Kesari

जालंधरः कंप्यूटर अाज की जीवन शैली का एक अहम हिस्सा बन चुका है। टैकनोलजी के इस युग में अाज इनसे रोजमर्रा के कई जरूरी काम किए जा रहे है, जिससे हमारे कई काम आसान हो गए है। लेकिन दूसरी तरफ से देखा जाए तो साइबर अपराध की घटनाएं भी तेजी से बढ़नें लगी हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 90 देश इस साइबर हमले से प्रभावित हुए हैं। ऐसे में आम यूजर्स भी हैकर्स के निशाने हैं। इसलिए इनसे बचने के लिए सतर्क रहना जरूरी है। आज हम आपको कुछ ऐसी पांच चीजे बताएंगे जिन्हें पहचान आप यह जान जाएंगे कि आपका कंप्यूटर सेफ है या वह साइबर हमले की चपेट में आ चुका है?

प्रिंटर कमांड से ज्यादा प्रिंट देने लगे - अगर आपके सिस्टम से कनेक्टेड प्रिंटर आपके कमांड के हिसाब से काम नहीं कर रहा है तो आपको अलर्ट हो जाना चाहिए। कई बार देखा गया है कि आप प्रिंट के लिए कमांड किसी और कंटेंट का देते हैं और प्रिंटर कुछ और ही प्रिंट करता है या फिर प्रिंटिंग पेज की संख्या ज्यादा होने लगती है।

इंटरनेट ब्राउजर का होम पेज चेंज होना - क्या आपके सिस्टम के ब्राउजर की सेटिंग चेंज हो गई है तो जरा सावधान हो जाएं। क्योंकि कई बार क्या होता है कि आपके ब्राउजर का होमपेज गूगल होता है और अचानक से बिंग या याहू हो जाता है, जबकि अपने-आप सेटिंग चेंज होने का कोई सेंस नहीं बनता।

पासवर्ड चेंज - अगर आपका कंप्यूटर फॉरगेट पासवर्ड मांग रहा है तो समझ जाएं कि आप हैकर्स के निशाने पर है या फिर आपको अगर अपने कंप्यूटर में दो या अधिक यूजर्स अकाउंट दिखें। तो आप समझ जाइए कि आप हैक हो चुके हैं।

कंप्यूटर में नए सॉफ्टवेयर दिखना - अगर आपके कंप्यूटर में कुछ नए ऐप या सॉफ्टवेयर दिख रहे हैं तो तुरंत सावधान हो जाएं। इसके अलावा कंप्यूटर के कंट्रोल पैनल के अनइंस्टॉल एंड चेंज अ प्रोग्राम में जाकर चेक करें कि कौन-सा सॉफ्टवेयर कब इंस्टॉल हुआ है और उसे आपने इंस्टॉल किया है या नहीं। अगर आपने वो ऐप या सॉफ्टवेयर इंस्टॉल नहीं किया है तो ऐसे में उसे जितना जल्दी हो सके डिलीट/अनइंस्टॉल करें।

ऑपरेटिंग सिस्टम या सॉफ्टवेयर का अपडेट होना - कंप्यूटर पर साइबर अटैक की सबसे बड़ी पहचान यही है कि हैकर्स आपके सिस्टम को अपडेट कराते हैं और इसी के साथ वे अपने सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम को भी आपके सिस्टम में इंस्टॉल कराते हैं। बचने का तरीका है कि ऑपरेटिंग सिस्टम का ऑटो अपडेट बंद कर दें।