हर साल 2.2 प्रतिशत तक अधिक जगमगा रही है पृथ्वी : रिपोर्ट

  • हर साल 2.2 प्रतिशत तक अधिक जगमगा रही है पृथ्वी : रिपोर्ट
You Are HereLatest News
Sunday, November 26, 2017-6:23 PM

जालंधर : इन दिनों सर्दी होने की वजह से समय से पहले ही अंधेरा हो जाता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पृथ्वी हर वर्ष 2.2 प्रतिशत तक अधिक जगमगा रही है। जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जिओसाइंस के डॉ क्रिस्टोफर काइबा की स्टडी के मुताबिक 2012 से 2016 तक हर वर्ष 2.2 प्रतिशत तक पृथ्वी के बाहरी क्षेत्रों में लगाई गई लाइट्स में इजाफा हो रहा है। 

 

काइबा और उनकी टीम ने स्पेस बेस्ड VIIRS (विजिबल इन्फ्रारैड इमेजिंग रेडियोमीटर) के जरिए इस डाटा को इकट्ठा किया है। आपको बता दें कि इस VIIRS को NOAA (नैशनल ओशैनिक और एटमोस्फेरिंक एडमिनिस्ट्रेशन) सैटेलाइट सुमी-NPP में इंस्टाल्ड किया गया है। यह पहली ऐसी डिवाइस है जिसे रात के समय पृथ्वी की लाइट्स को चैक करने के लिए बनाया गया है। 

 

रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा दक्षिण अमरीका, अफ्रीका और एशिया में लाइट्स की तादाद को बढ़ता देखा गया है वहीं अमरीका और स्पेन में 2012 से 2016 तक लाइट्स स्टेबल रही यानी इनमें बढ़ोतरी नहीं हुई। इसके अलावा युद्ध के कारणों के परिणामस्वरूप साल दर साल सीरिया और यमन में लाइट्स की कमी देखी गई है। माना जा रहा है कि स्ट्रीटलाइट्स को बेहतर LED लाइट्स के साथ रिप्लेस करने यानी बदलने के कारण पृथ्वी हर साल और अधिक जगमगा रही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !