आ गई दुनिया की पहली शहर के अंदर चलने वाली साइलैंट SKYRAIL

  • आ गई दुनिया की पहली शहर के अंदर चलने वाली साइलैंट SKYRAIL
You Are Heretechnology
Thursday, September 07, 2017-2:10 PM

जालंधर : एक शहर से दूसरे शहर जाने के लिए ट्रेनों को सबसे सस्ती और बेहतर परिवहन प्रणाली माना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि अब इनका उपयोग शहर के अंदरूनी भागों में भी किया जा सकेगा। चीन की इलैक्ट्रिक व्हीकल निर्माता कम्पनी BYD ने नई स्काईरेल नाम की दुनिया की पहली स्ट्रैडल टाइप मोनोरेल बनाई है जो शहर के अंदरूनी भागों में सफर करने में मदद करेगी। इस मोनोरेल को काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि इसे कम समय में कम पैसों को खर्च कर बनाया गया है। स्काईरेल की एक खासियत यह भी है कि यह बहुत कम आवाज़ करती है और इसे ज्यादा भीड़-भाड़ वाले शहरी इलाकों में उपयोग में लाया जा सकता है। 

 

कम पैसों व समय में बनाई गई स्ट्रैडल टाइप मोनोरेल :
स्काईरेल को लेकर इसकी निर्माता कम्पनी BYD ने यह दावा किया है कि एक मोनोरेल सिस्टम को बनाने में जितने पैसे खर्च होते हैं उनके सिर्फ पांचवें हिस्से में इसे बनाया गया है। इसके अलावा इसे बनाने में समय भी एक तिहाई ही लगा है। स्काईरेल को चीन की सबसे महत्वपूर्ण स्मार्ट सिटी यिनचुआन में शुरू कर दिया गया है। BYD ने बताया है कि अब इसे 200 और शहरों में शुरू करने की योजना है।

 

ज्यादा जनसंख्या को देख शुरू हुई थी यह परियोजना :
चीन को दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था कहा जाता है। इस समय चीन में 60 प्रतिशत तक जनसंख्या शहरी इलाकों में रहती है जो 1990 की 26 प्रतिशत से कहीं ज्यादा है। वर्तमान में चीन में 40,000 लोग रोजमर्रा की जिंदगी में शहर के एक जगह से दूसरी जगह में सफर करते हैं। इसी बात पर ध्यान देते हुए चीन ने अपने शहरों को और भी स्मार्टर और बेहतरीन मॉर्डन इंफ्रास्ट्रक्चर से बनाने का फैसला किया है। 

 

5 साल में बनाया गया मोनो रेल सिस्टम :
दुनिया के पहले इस स्ट्रैड्ल टाइप मोनोरेल सिस्टम को महज 5 वर्षों में बनाया गया है और इसे बनाने में 760 मिलियन डॉलर खर्च हुए हैं। वहीं बात की जाए स्काईरेल की तो इसे 32 मिलियन डॉलर्स की लागत में सिर्फ 4 महीनों में बनाया गया है। 

 

80 km/h की टॉप स्पीड :
स्काईरेल आसानी से बिल्डिंगस के बीच से होते हुए 80 किलोमीटर प्रति घंटा की टॉप स्पीड तक जा सकती है। फिलहाल यह स्ट्रैड्ल टाइप मोनोरेल सिस्टम चीन की स्मार्टसिटी यिनचुआन के 5.7 किलोमीटर रूट को कवर कर रही है जिसमें आठ स्टेशन मौजूद हैं। जानकारी के मुताबिक इस तकनीक को 2018 तक चीन के 20 शहरों में 20 किलोमीटर की रेंज तक बढ़ाया जाएगा। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !