अब ‘वॉलेट’ रखेगा आपके पर्स का ख्याल

Punjab Kesari

जालंधर : अक्सर लोगों के साथ ऐसा होता है कि वे किसी चीज (पर्स, चाबी आदि) को रखकर भूल जाते हैं और याद नहीं आता कि उस वस्तु को कहां रखा था। अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो अपना पर्स या चाबियां रखकर भूल जाते हैं तो स्टार्टअप कम्पनी ट्रैकआर (TrackR) ने दो गैजेट लांच किए हैं जो आपके पर्स और चाबियों का ख्याल रखेंगे। ट्रैकआर ‘वॉलेट 2.0’ की बात करें तो आप इसे पर्स में रख सकते हैं तथा यह ब्लूटुथ, क्राऊड जी.पी.एस. के जरिए यूजर्स की मदद करता है।

कीमत 

वॉलेट 2.0 की कीमत 29.99 डॉलर (लगभग 2045 रुपए) है और इसे फरवरी के अंत तक लांच किया जा सकता है। 

क्रैडिट कार्ड जैसा डिजाइन

वॉलेट 2.0 ट्रैकआर का नया वर्जन है जिसमें सुधार किया गया है। क्रैडिट कार्ड के आकार और डिजाइन वाले इस गैजेट को अपने पर्स में रखा जा सकता है। कम्पनी का दावा है कि यह सबसे पतला (महज 2 एम.एम.) फाइंडर गैजेट है। 

ब्लूटुथ ढूंढेगा गुम हुई वस्तु

अन्य ट्रैकआर प्रोडक्ट्स की तरह ट्रैकआर वॉलेट 2.0 भी 100 फुट की दूरी से आपके पर्स को ट्रैक कर लेगा जिसके लिए ब्लूटुथ टैक्नोलॉजी मदद करेगा। इसी के साथ ही 100 फुट की दूरी को पार करते ही यह गैजेट अन्य क्राऊड सोस्र्ड नैटवर्क का सहारा लेते हुए आपके पर्स को ढूंढने में मदद करेगा। 

महज 2 एम.एम. पतला होने के बावजूद भी वॉलेट 2.0 में ट्रैकआर के पहले वाले वर्जन के सारे फीचर्स मौजूद हैं जिसमें यूजर रिप्लेसेबल बैटरीज भी शामिल हैं। रिप्लेसेबल बैटरी इस गैजेट का बड़ा फायदा भी है क्योंकि बैटरी खत्म होने पर आपको इस गैजेट को नहीं बल्कि बैटरी को रिप्लेस करना होगा। 

ट्रैकआर पिक्सल : 

इसके अलावा कम्पनी ने  ट्रैकआर ब्रावो (ट्रैकर डिवाइस) के सस्ते वर्जन ट्रैकआर पिक्सल को भी लांच किया है। प्लास्टिक से बना यह डिवाइस भी एक ट्रैकर के रूप में इस्तेमाल होता है लेकिन इसकी कीमत कम (24.99 डॉलर लगभग 1700 रुपए) है। इसे की-चेन की तरह चाबी से लगा सकते हैं।