हर रोज 13,000 नए डिवाइसिस को अपना शिकार बना रहा है यह मालवेयर

Punjab Kesari

जालंधर: एंड्रॉयड डिवाइसिस में मालवेयर आने की समस्या समय के साथ-साथ बढ़ती ही जा रही है। एक्सपर्ट्स के अनुसार घोस्ट पुश मालवेयर, Gooligan ने 1 मिलियन (करीब 10 लाख) एंड्रॉयड डिवाइसिस को नुक्सान पहुंचाया है और यह लगभग प्रति दिन 13,000 नए डिवाइसिस को अपना शिकार बना रहा है।


डिवाइस में कैसे पहुंचता है ये मालवेयर -

अगर आपके दिमाग में यह सवाल उमड़ रहा है कि यह मालवेयर आपके डिवाइस में पहुंच कैसे जाता है तो आपको बता दें कि जब आप गूगल प्ले स्टोर की बजाए किसी अन्य थर्ड-पार्टी एप्प स्टोर से एप्प डाऊनलोड करके इंस्टाल करते हैं तो यह Gooligan-बेस्ड एप्प आपके स्मार्टफोन पर हमला करके न सिर्फ यूजर के ईमेल एड्रैसिस ऑर ऑथैंटिकेशन डाटा को चुरा लेता है बल्कि इसमें मौजूद महत्वपूर्ण और गोपनीय जानकारियां भी हासिल कर लेता है। 

Gooligan12


मालवेयर से निपटने के लिए उठाए गए अहम कदम -

गूगल अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 6.0 मार्शमैलो और इससे ऊपर के वर्जन के लिए अपडेट जारी करके इनमें आई समस्या को सुलझा रहा है। इसके अलावा गूगल प्ले की रेटिंग्स में भी की जा रही धोखाधड़ी के बारे में निरीक्षण किया जा रहा है। 

Gooligan11


गूगल रिपोर्ट - 

गूगल की रिपोर्ट के मुताबिक केवल 24.3 प्रतिशत उपयोगकर्ता ही एंड्रॉयड के अप-टू-डेट वर्जन का यूज कर रहे हैं। साथ ही कहा गया है कि चीन में गूगल प्ले स्टोर यूज नहीं किया जा रहा, यहां तक कि उनके डिवाइसिस में स्टोर एप्प इंस्टॉल भी नहीं है। गूगल का कहना है कि सभी डिवाइसिस को अप-टू-डेट करने में (जैसे नए हार्डवेयर के आने तक) लंबा समय लग सकता है, लेकिन इस तरह के मालवेयर ज्यादा देर तक प्रभावी नहीं रहेंगे।