चीन को मिल रहा है 700 मिलियन एंड्रॉयड यूजर्स का सारा डाटा

Punjab Kesari

जालंधर - अगर आप एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर हैं तो आपकी प्राइवेसी पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि 700 मिलियन एंड्रॉयड यूजर का डाटा हर 72 घंटों में चीन को मैसेज द्वारा भेजा जा रहा है। दरअसल एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में एक सीक्रेट 'backdoor' मौजूद है जिसके द्वारा यूजर के मैसेज, कॉन्टैक्ट, कॉल लॉग और लोकेशन हिस्ट्री जैसी जानकारियां चीन को भेजी जा रही हैं। 

Kryptowire के सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने एंड्रॉयड के इस छुपे हुए backdoor का पता लगाया है, जो फोन के मालिक का डाटा एकत्र कर चाइनीज सर्वर को सेंड करता है। खबरों के मुताबिक, AdUps का सॉफ्वेयर न ही सिर्फ यूजर की निजी जानकारी को चुराता है बल्कि ये रिमोटली ही फोन को अपडेट कर देता है। हालांकि, अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि यूजर्स की जानकारी किस मकसद के लिए एकत्र की जा रही है।

यूजर की इस तरह की जानकारियां हो रही हैं लीक:
1. कॉल लॉग को एकत्र कर AdUps सर्वर पर भेजना (हर 72 घंटों में)
2. एसएमएस को एकत्र कर AdUps सर्वर पर भेजना (हर 72 घंटों में)
3. स्मार्टफोन के IMSI और IMEI नंबर को पहचानना
4. यूजर की डिवाइस पर कितनी एप्स इंस्टॉल हुईं हैं उनकी फाइल भेजना
5. निजी जानकारी को एकत्र कर AdUps सर्वर पर भेजना (हर 24 घंटों में)
6. एप्स को अपडेट और रिमूव करना
7. फोन फर्मवेयर को अपडेट करना और डिवाइस को री-प्रोग्राम करना
8. बिना यूजर के अनजाने एप्स को इंस्टॉल और डाउनलोड करना

इस backdoor से सिर्फ चाइनीज स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को यूजर के बर्ताव का पता चलता है। आपको बता दें कि ये backdoor दो सिस्टम एप्लीकेशन्स में होते हैं एक com.adups.fota.sysoper और दूसरा com.adups.fota, इन्हें यूजर्स डिसेबल और रीमूव नहीं कर सकते। इस मामले पर गूगल ने एक बयान जारी कर कहा है कि जिस भी कंपनी के डिवाइस में यूजर को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है वे जल्द ही इसे सही कर दें।