इन कंपनियों में मिल रही हैं बिलिंग की सबसे ज्यादा शिकायतें

Punjab Kesari

जालंधर : एयरटैल, वोडाफोन तथा आइडिया की मोबाइल सेवाओं के मामले में उपभोक्ताओं की ओर से अक्तूबर-दिसम्बर, 2016 के दौरान बिलिंग को लेकर सबसे अधिक शिकायतें मिली हैं। 


भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘सेवाओं की गुणवत्ता मानकों के अनुसार एक तिमाही में प्रति 100 बिलों पर शिकायत का स्तर 0.1 पर्सेंट से अधिक नहीं होना चाहिए।’’ ट्राई ने कॉल ड्रॉप सहित खराब मोबाइल सेवाओं के लिए 2,00,000 रुपए जुर्माने का प्रावधान किया हुआ है। एक दूरसंचार सर्कल में 2 पर्सेंट से अधिक कॉल ड्रॉप की स्थिति में यह जुर्माना लगता है। 


भारती एयरटैल: 

सबसे अधिक शिकायतें तमिलनाडु (चेन्नई सहित), कोलकाता, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के 2जी प्रीपेड ग्राहकों की ओर से आई हैं। इन क्षेत्रों में बैंचमार्क का उल्लंघन 0.11 से 0.12 पर्सेंट के बीच पाया गया है।  


वोडाफोन: 

सबसे अधिक उल्लंघन वोडाफोन के मामले में पाए गए। आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में कंपनी के क्रमश: 0.15 पर्सेंट तथा 0.13 पर्सेंट बिलों को लेकर शिकायत की गई। वोडाफोन एकमात्र ऑप्रेटर रही जिसके मुम्बई सर्कल के पोस्टपेड ग्राहकों ने गुणवत्ता से संबंधित कई मुद्दे उठाए। 


आइडिया: 

आइडिया के खिलाफ पूर्वोत्तर सर्कल में 0.13 पर्सेंट बिलों से संबंधित शिकायतें आईं। 


एयरसैल: 

गुणवत्ता मानदंडों के अनुसार ट्राई ने ज्यादातर दूरसंचार सर्कलों में कॉल ड्रॉप के मामले में एयरसैल का प्रदर्शन स्तर से नीचे पाया। वहीं 4 सर्कलों में एयरसैल के 2जी नैटवर्क ने इस सीमा को पार किया। पूर्वोत्तर सर्कल में एयरसैल की कॉल ड्रॉप की दर 27.73 पर्सैंट के ऊंचे स्तर पर थी।