सस्ते इंटरनेट के लिए 80,000 लोगों ने साइन की ऑनलाइन याचिका

Punjab Kesari

जालंधर : TRAI ने रिलायंस जियो के समर सरप्राइज ऑफर को गैरकानूनी बताते हुए इसे वापस लेने को कहा है। इस फैसले के बाद यूजर्स ने सस्ती इंटरनेट सेवा के पक्ष में इन दिनों एक ऑनलाइन याचिका के जरिए हस्ताक्षर कर अभियान शुरू कर दिया है। change.org पर ऑनलाइन पिटीशन (यानी ऑनलाइन याचिका) के पक्ष में अब तक 80,000 लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं। यह ऑनलाइन याचिका हैदराबाद के एक आईटी इंजीनियर अमित भवानी ने शुरू की है। याचिका में ट्राई के आदेश वाले दिन यानी सात अप्रैल को डिजिटल इंडिया के लिए काला दिन बताया गया है।

उल्लेखनीय है कि रिलायंस जियो ने 31 मार्च को प्राइम मेंबरशिप की डेडलाइन बढ़ाकर 15 अप्रैल कर दी थी। इसके बाद कंपनी ने समर सरप्राइज ऑफर का ऐलान किया था। इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए यूजर को 99 रुपए का प्राइम अॉफर व इसके साथ 303 रुपए का रिचार्ज कराना होगा जिसके बाद कंपनी तीन महीने यानी अप्रैल से जून तक फ्री सेवा देगी। लेकिन ट्राई ने इस ऑफर पर आपत्ति जताते हुए इसे कंपनी से वापस लेने को कहा है। ट्राई के इस आदेश से प्रतिद्वंद्वी कंपनियां भले ही खुश हो गई हों, लेकिन जियो उपभोक्ता काफी दुखी हैं। भवानी ने अपनी याचिका में कहा है कि ट्राई के आदेश ने आम उपभोक्ताओं को काफी निराश किया है। याचिकाकर्ता ने कहा कि मेरी रियालंय जियो से कोई सहानुभूति नहीं है और न ही मैं रिलायंस जियो की पैरवी कर रहा हूं, बल्कि मैं सस्ती इंटरनेट सेवा उपलब्ध होने में बाधा बनने वाली ट्राई के आदेश के खिलाफ हूं।