सरकार ने दी Jio की फ्री वॉइस कॉलिंग को क्लीन चिट

Punjab Kesari

जालंधरः  सरकार ने रिलायंस जियो इन्फोकॉम को यह कहते हुए क्लीन चिट दे दी है कि मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली मोबाइल फोन ऑपरेटर ने पैसे लिए बिना वॉयस सर्विस देकर किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है। पुरानी टेलिकॉम कंपनियों ने जियो के खिलाफ यह कंप्लेंटल करवाई थी कि वह 14 पैसे प्रति मिनट के मिनिमम इंटरकनेक्ट रेट से नीचे सर्विस ऑफर करके टेलिकॉम टैरिफ ऑर्डर का उल्लंघन कर रही है।




टेलिकॉम मिनिस्टर मनोज सिन्हा ने संसद के शीत सत्र में एक सवाल के लिखित जवाब में कहा, 'स्पेक्ट्रम ऐलोकेशन/ऑक्शन के गाइडलाइंस/एनआईए में ऐसे किसी रेट का कोई जिक्र नहीं है जिसके हिसाब से ही सर्विस प्रोवाइडर को कस्टमर्स को सर्विस देना होगा। ऐसे स्पेक्ट्रम ऐलोकेशन से संबंधित गाइडलाइंस का उल्लंघन होने का कोई सवाल ही नहीं उठता।'




पिछले महीने की शुरुआत में भारती एयरटेल, वोडोफोन इंडिया, आइडिया और टेलिनॉर ने ट्राई से शिकायत की थी।  शिकायत में कहा था कि रिलायंस जिओ की मुफ्त वॉयस और डाटा पैक मार्केट रेट से भी नीचे है, यह टेलिकॉम टैरिफ ऑर्डर 2004 का उल्लंघन है। हालांकि, ट्राई ने कहा था कि रिलायंस ने मुफ्त में सर्विस देकर किसी रूल का उल्लंघन नहीं किया।