रिलायंस जियो ने बनाया नया रिकॉर्ड, 83 दिनों में जोड़े 50 मिलियन उपभोक्ता

Punjab Kesari

जालंधर - भारत की 4G LTE मोबाइल नेटवर्क निर्माता कंपनी रिलायंस जियो ने आज यह घोषणा करते हुए कहा है कि कंपनी ने 83 दिनों से उपलब्ध कराई गई सेवाओं में 50 मिलियन उपभोक्ताओं को अपने साथ जोड़ा है जो सामान्य दर से प्रति दिन 6 लाख ग्राहकों को अपने साथ जोड़ने के बराबर है। जियो का कहना है कि उन्होंने 4G LTE नेटवर्क को हर घर तक पहुंचाया है और यूजर्स को हाइ स्पीड इंटरनेट की सर्विस मुहैया कराई है। 

2 लाख आउटलेट से मिलेगी सर्विस -

जियो ने भारत में सफलतापूर्वक दो लाख स्टोर्स खोले हैं जहां 5 मिनटों में सिम एक्टिवेट की जाएगी। कंपनी का कहना है कि मार्च 2017 तक इनकी संख्या 4 लाख तक होने की उम्मीद है। इन स्टोर्स में आकर जियो यूजर बननें की चाह रखने वाले ग्राहक मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी सुविधा का भी फायदा ले सकते हैं। इसके अलावा जियो सिम होम डिलीवरी में भी उपलब्ध होगी जिसमें यूजर के घर तक सिम पहुंचाई जाएगी। इस नई सर्विस को कंपनी 31 दिसंबर 2016 तक 100 शहरों में शुरू कर देगी।

जियो बना रही है स्ट्रांग नेटवर्क -

जियो अपने 4G LTE नेटवर्क को स्ट्रांग बनाने में लगी हुई है ताकि 50 मिलियन उपभोक्ताओं की जरूरत को पूरा किया जा सके। कंपनी का कहना है कि जियो डिजिटल लाइफ सर्विसेज सामान्य रूप से उपयोग की जाने वाली सर्विस से तकरीबन 25 प्रतिशत अधिक डाटा की खपत करती हैं, इसके बाद भी कंपनी अन्य दूरसंचार ऑपरेटरों की तुलना में 4 गुना अधिक डाटा पहुंचाने में लगी हुई है। 

जिओ हैप्पी न्यू ईयर ऑफर -

जियो के ग्राहक बनने की चाह रखने वाले लोगों के लिए जियो हैप्पी न्यू ईयर ऑफर लेकर आई है जिसे 4 दिसंबर 2016 से शुरू कर दिया गया है। इस अॉफर के तहत यूजर 31 मार्च 2017 तक फ्री में डाटा, वौइस् और विडियो कॉलिंग का आनंद उठा सकते हैं। जियो ने कहा है कि 80 प्रतिशत यूजर प्रति दिन 1 जीबी डाटा का उपयोग करते हैं वहीं सिर्फ 20 प्रतिशत यूजर ही 1 जीबी से उपर डाटा की खपत करते हैं। इस बात पर ध्यान देते हुए कंपनी ने हैप्पी न्यू ईयर ऑफर के तहत 1 जीबी तक हाइ स्पीड इंटरनेट और इसके बाद 128 Kbps की स्पीड से इंटरनेट मुहैया कराने की बात कही है।

जियो मनी -

जियो ने नोटबंदी को ध्यान में रखते हुए जियो मनी एप्प उपलब्ध की है जो भारत की जनता को कैशलेस तरीके से जीने में मदद करेगी। इस एप्प की मदद से यूजर को मंडियों, छोटी दुकानों, रेस्तरां और रेलवे टिकट काउंटर पर भुगतान करने में मदद मिलेगी।