रिलायंस जियो के फ्री ऑफर से टेलीकॉम सेक्टर को हुआ नुकसान

Punjab Kesari

जालंधर : भारत की एलटीई नेटवर्क ऑपरेटर कंपनी रिलायंस जियो की ओर से फ्री सर्विसेज दिए जाने के चलते टेलीकॉम मार्केट को 20 पर्सेंट रेवेन्यू का नुकसान उठाना पड़ा है। गुरुवार को जारी की गई  इंडिया रेटिंग्स ऐंड रिसर्च की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 में रिलायंस जियो की एंट्री के बाद मार्केट शेयर में री डिस्ट्रिब्यूशन यानी पुनर्विभाजन की स्थिति बन गई है।

 रिपोर्ट में कहा गया है कि जनवरी 2017 में रिलायंस जियो के पास करीब 7 करोड़ 20 लाख सबस्क्राइबर्स थे जिनका मार्च तक आंकड़ा 10 करोड़ तक पहुंच सकता है। रिलायंस जियो के मार्केट शेयर में लगातार इजाफा हो रहा है। रेटिंग एजेंसी के मुताबिक आने वाले वक्त में भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्री में ड्यूल सिम का प्रयोग बढ़ सकता है, जिससे टेलिकॉम कंपनियों के मार्केट शेयर में अनिश्चितता की स्थिति रहेगी।

वोडाफोन और आइडिया का होगा मर्जर -

रिपोर्ट के मुताबिक, 'कंपनियों को अपने कस्टमर्स बनाए रखने के लिए डाटा स्पीड बेहतर रखने व वर्चुअल नेटवर्क प्लेटफॉर्म को मजबूत रखने पर काम करना होगा।' रेटिंग एजेंसी के अनुसार आने वाले दिनों में वोडाफोन और आइडिया के मर्जर के बाद टेलीकॉम इंडस्ट्री में स्पेक्ट्रम डुप्लीकेशन खत्म होगी।

छोटी कंपनियां हो सकती हैं मार्केट से बाहर -

रेटिंग एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार वोडाफोन और आइडिया के मर्जर के बाद छोटी टेलिकॉम कंपनियां लंबे समय तक पूंजी लुटाने की स्थिति में नहीं रहेंगी जिससे उन्हें मार्केट से बाहर निकलने के विकल्प पर भी विचार करना पड़ सकता है।