360 km/h की रफ्तार पकड़ेंगी नई बुलेट ट्रेन्स

  • 360 km/h की रफ्तार पकड़ेंगी नई बुलेट ट्रेन्स
You Are HereTop Stories
Monday, October 8, 2018-11:30 AM

- हाई स्पीड पकड़ने में मदद करेगी लॉन्ग नोज़

गैजेट डैस्क : जापान अपनी बुलेट ट्रेन्स को लेकर पहले से ही पूरी दुनिया में जाना जाता है और अब अनोखे डिजाइन पर आधारित ऐसी ट्रेन्स तैयार की गई हैं जो 360 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार आसानी से पकड़ लेंगी। इन ट्रेन्स के डिजाइन को अलग तरह का बनाया गया है और इनमें अब तक की सबसे लम्बी नोज़ लगाई गई है। 

- आपको जानकर हैरानी होगी कि इन Alfa-X ट्रेन्स की नोज़ यानी नाक की लम्बाई 22 मीटर है और इसी वजह से ये बुलेट ट्रेन्स हवा को चीरती हुई फास्ट स्पीड से आगे बढ़ती हैं। इन ट्रेन्स को तस्वीरों के जरिए पहली बार दिखाया गया है। इनकी टैस्टिंग वर्ष 2019 तक शुरू होगी। आपको बता दें कि इससे पहले जापान में जो बुलेट ट्रेन्स ऑप्रेट हो रही हैं वे अधिकतम रफ्तार 320 किलोमीटर प्रति घंटा की पकड़ती हैं। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि जापान ने अपनी बुलेट ट्रेन्स को काफी बेहतर बना लिया है। 

PunjabKesari

मौजूदा समय में जापान में चल रही ये बुलेट ट्रेन

पटरी पर स्थिरता बनाएगी ट्रेन की लॉन्ग नोज़

Alfa-X बुलेट ट्रेन्स की नोज़ को काफी अध्ययन के बाद तैयार किया गया है। रफ्तार में जब ये बुलेट ट्रेन्स सुरंगों में से गुजरेंगी तो ये नोज़ ट्रेन्स पर प्रैशर नहीं पड़ने देंगी जिससे बुलेट ट्रेन्स की पटड़ी पर स्थिरता बनी रहेगी। 

ट्रेन में लगे एंटी अर्थक्वेक डैम्पर्स

दुनिया के जिन क्षेत्रों में ज्यादा भूकम्प आते हैं इन जगहों पर भी ये बुलेट ट्रेन्स काफी कामयाब रहेंगी। इनमें एंटी अर्थक्वेक डैम्पर्स को लगाया गया है जो भूकम्प के आने पर इसका पता लगा लेंगे और ट्रेन की मूवमैंट को कन्ट्रोल करेंगे जिससे भूकम्प के दौरान ट्रेन को ट्रैक से उतरने से बचाया जा सकेगा। 

PunjabKesari

चीन में दौड़ रही दुनिया की सबसे फास्टैस्ट बुलेट ट्रेन

चीन फास्टैस्ट बुलेट ट्रेन्स को बनाने में नम्बर 1 पर है क्योंकि चीन में Shanghai’s maglev ट्रेन आज भी ऑप्रेट होती है उसकी टॉप स्पीड 431 किलोमीटर प्रति घंटा की है जोकि इसे दुनिया की सबसे फास्टैस्ट बुलेट ट्रेन बनाती है।

ऑटो-मैटिकली ब्रेकिंग सिस्टम

इस बुलेट ट्रेन की सबसे बड़ी खासियत है कि पटड़ी पर किसी वस्तु या व्यक्ति के होने की आशंका होने पर ट्रेन में लगा ऑटोमैटिक ब्रेकिंग सिस्टम अपने आप ब्रेक लगा देगा जिससे मासूम जिंदगी को बचाया जा सकेगा। माना जा रहा है कि इन बुलेट ट्रेन्स से टोक्यो में रहने वाले लोगों व मुसाफिरों को यात्रा करने में काफी आसानी होगी। 

PunjabKesari

यातायात को इससे भी तेज बनाने पर हो रहा काम

जापान में इससे भी तेज रफ्तार पर चलने वाली maglev train को बनाने पर भी काम हो रहा है। यह ट्रेन 603 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ेगी और इसे वर्ष 2027 तक लाने की जानकारी दी गई है। 
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh