आयरिश सागर में बना दुनिया का सबसे बड़ा विंड फार्म, लाखो घरों को मिलेगी बिजली

  • आयरिश सागर में बना दुनिया का सबसे बड़ा विंड फार्म, लाखो घरों को मिलेगी बिजली
You Are HereLatest News
Sunday, September 9, 2018-2:08 PM

गैजेट डेस्क- इंग्लैंड के उत्तरी-पश्चिमी तट पर आयरिश सागर में फुटबॉल के करीब 20 हजार मैदानों के बराबर दुनिया का सबसे बड़ा विंड फार्म तैयार किया गया है। इस प्लांट को आधिकारिक रूप से खोल दिया गया और बिजली उत्पादन का काम शुरू हो गया है। इस नए विंड फार्म की क्षमता 659 मेगावॉट की है, जिससे 5.90 लाख घरों के लिए पर्याप्त बिजली मिल सकेगी। बताया जा रहा है कि बिजली उत्पादन के मामले में भी यह दुनिया का सबसे बड़ा विंड फार्म है। 

PunjabKesariरोजगार के अवसर

ऊर्जा एवं विकास मंत्री क्लेयर पेरी ने बताया कि यह प्रोजेक्ट इंजीनियरिंग का बेहतरीन नमूना है, जिससे हजारों मेगावॉट बिजली का उत्पादन होगा और रोजगार के हजारों अवसर भी बनेंगे।

PunjabKesariबिजली उत्पादन क्षमता

वैश्विक पवन ऊर्जा समिति के मुताबिक, दुनिया में अपतटीय पवन ऊर्जा क्षमता के मामले में यूके सबसे आगे है। 2017 में यूके के विंड फार्म की बिजली उत्पादन क्षमता 6,800 मेगावॉट थी, जो उसके कड़े प्रतिद्वंद्वी जर्मनी से 1,300 मेगावॉट ज्यादा है। यह प्रोजेक्ट अब यूके की विंड फार्म बिजली उत्पादन क्षमता में और इजाफा करेगी।

PunjabKesari
कंपनी का बयान

इस प्रोजेक्ट का संचालन करने वाली डेनिश ऊर्जा कंपनी ओर्सटेड के अधिकारियों ने बताया कि यह प्रोजेक्ट 145 स्क्वॉयर किलोमीटर एरिया में फैला हुआ है। कंपनी के मुताबिक, विंड फार्म में 87 टरबाइन लगे हैं, जो ब्रिटेन की संसद में लगी बड़ी घंटी से दोगुनी ऊंचाई के हैं। PunjabKesariभारत में पवन ऊर्जा

भारत की बात करें तो यहां पवन ऊर्जा का विकास 1990 के दशक में प्रारंभ हुआ और पिछले कुछ वर्षों में अच्छी-खासी सफलता हासिल हुई है। हालांकि डेनमार्क और अमरीका की तुलना में भारत में पवन ऊर्जा की स्थापित क्षमता दुनिया में पांचवें स्थान पर है। वर्तमान समय में भारत में पवन ऊर्जा का उत्पादन 32.56 गीगावाट है। भारत में राज्यस्तरीय पवन ऊर्जा की दृष्टि से तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान, मध्यप्रदेश, केरल और पश्चिम बंगाल शीर्ष पर हैं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan