Google ने प्ले स्टोर पर सैलरी लोन ऐप्स पर लगाया बैन

  • Google ने प्ले स्टोर पर सैलरी लोन ऐप्स पर लगाया बैन
You Are HereGadgets
Tuesday, October 15, 2019-5:19 PM

गैजेट डेस्क : गूगल ने बड़ी कार्यवाही से करते हुए एंड्रॉइड एप्लीकेशन प्ले स्टोर से सैलरी लोन ऐप्स को बैन कर दिया है। सैलरी लोन एक छोटा, अनसेक्यूर्ड शार्ट-टर्म लोन है। इस टाइप के लोन में जब उच्च ब्याज दर पर अपेक्षाकृत कम धनराशि उधार दी जाती है और यह एग्रीमेंट होता है कि जब उधारकर्ता को उसकी अगली सैलरी मिलेगी तभी वह अगली किश्त चुगायेगा। 


गूगल की कार्यवाही से ऑनलाइन ऋणदाता हुए नाराज 

 

Image result for google play store payday loan apps


भ्रमित करने वाले लोन स्कीम कसे बेहतर तरीके से लड़ने के लिए, Google ने Play Store ऐप्स पर 'भ्रामक या हानिकारक' व्यक्तिगत सैलरी लोन ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन सैलरी ऐप्स में वार्षिक ब्याज दर 36 प्रतिशत या उससे अधिक थी जैसे कि कई सैलरी लोन ऐप्स पर रेट रहता है। गूगल कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी द्वारा यह विस्तारित वित्तीय नीति इस साल की शुरुआत में लागू की गई थी। इसका मकसद इन लोन ऐप्स के शोषण करने वाले नियम और शर्तो के खिलाफ "उपयोगकर्ताओं की रक्षा" करना है।  रविवार को अमेरिका के मशहूर अखबार  द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इस खबर को प्रकाशित किया था। 
 

इस कड़ी कार्यवाही से सैलरी देने वाले ऋणदाता खुश नहीं है। इस कदम के बाद उन्हें अपने ब्याज दर कम करना या पूरी तरह से काम ठप करना पड़ रहा है।  रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑनलाइन लेंडर्स एलायंस के सीईओ मैरी जैक्सन ने बार-बार कहा है कि कंपनियों के ऑपरेट करने पर भले ही अनुमति हो लेकिन उनके अनुसार गूगल द्वारा लगाया यह प्रतिबंध "वैध ऑपरेटरों" और साथ ही "कानूनी तौर पर सही लोन" की तलाश कर रहे ग्राहकों को नुकसान पहुंचाता है।हालांकि गूगल की कार्यवाही से पहली बार या मजबूरी में सैलरी लोन लेने वाले ग्राहकों को काफी बड़ी राहत मिलेगी जिससे वह कभी भी ऐसे ऐप्स के चक्कर में नहीं आएंगे। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey