गूगल ट्रांसलेट अॉफलाइन करना होगा और भी अासान, मिलेगी AI तकनीक

  • गूगल ट्रांसलेट अॉफलाइन करना होगा और भी अासान, मिलेगी AI तकनीक
You Are HereLatest News
Wednesday, June 13, 2018-3:11 PM

जालंधरः अमरीकी मल्टीनैशनल टैक्नोलॉजी कंपनी गूगल ने हमारे जीवन को अासान बनाने के लिए लंबा सफर तय किया है। अाज के समय में हम हर रोज कोई न कोई गूगल के प्रोडक्ट का इस्तेमाल जरूर करते है। वहीं, गूगल ट्रांसलेट उन प्रोडक्ट्स में से एक है, जो कि ट्रैवलर्स के दौरान लोगों के लिए कोई वरदान से कम नहीं है। गूगल ट्रांसलेट हमेशा टेक्निकली काम करता है। गूगल द्वारा पेश की गई ट्रांसलेट अॉफलाइन सर्विस के जरिए लोग कम नेटवर्क वाले एरिया में भी ऑफलाइन फीचर का यूज कर सकते है।

 

वहीं, हाल ही में गूगल ने बताया था कि वह अपनी अॉफलाइन सर्विस को अब NMT के इंटीग्रेशन के साथ और भी ज्यादा बेहतर होने वाली है। दो साल पहले गूगल ने अॉनलाइन ट्रांसलेट में NMT टेक्निक को इंटीग्रेट किया था, जो कि काफी अच्छा रिजल्ट दिखाता था। वहीं, अब गूगल ऑफलाइन ट्रांसलेशन के लिए NMT टेक्नोलॉजी को पेश करने वाला है। 

 

रिपोर्ट के मुताबिक, अब गूगल न्यूरल सिस्टम टुकड़ो में ट्रांसलेट करने की जगह एक ही समय में सेंटेंस को ट्रांसलेट कर देगा। इसके द्वारा किए गया ट्रांसलेट पैराग्राफ को पढ़ने के लिए बहुत अासान बना देगा। बता दें कि गूगल ट्रांसलेट ऑफलाइन एप्प के क लाइट एप्प है, जो किसी भी भाषा के लिए 35-45mb स्पेस का यूज करती है। गूगल का यह अपडेट 59 भाषाओं में रिलीज होगा और यह यूजर्स के लिए कुछ ही दिनों में उपलब्ध हो जाएगा। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!