आईआईटी कानपुर ने तैयार किया ऑक्सीजन मॉनीटरिंग ऐप

  • आईआईटी कानपुर ने तैयार किया ऑक्सीजन मॉनीटरिंग ऐप
You Are HereNational
Thursday, April 29, 2021-2:49 PM

गैजेट डेस्क: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच ऑक्सीजन की किल्लत और कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल के बाद आईआईटी कानपुर ने ऑक्सीजन मॉनीटरिंग ऐप तैयार कर ली है। कम समय में तैयार किए गए इस ऐप पोटर्ल ने काम करना शुरू कर दिया है। इसके माध्यम से सरकार प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति, खपत व स्टॉक पर नजर रख सकेगी, जिससे अब अस्पताल वाले स्टॉक होते हुए ऑक्सीजन को लेकर आनाकानी नहीं कर सकेंगे। इसके चलते एक-एक सांस के लिए संघर्ष कर रहे मरीजों को राहत मिलेगी। आईआईटी कानपुर के द्वारा तैयार की गई ऐप को लेकर संस्थान के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने बताया कि संस्थान में ऑक्सीजन मॉनिटरिंग ऐप को मैनेजमेंट विभाग के प्रोफेसर दीपू फिलिप तथा पीएचडी छात्र सुरेंद्र प्रबल के सहयोग से 24 घंटे के अंदर विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन उपलब्धता को लेकर कोई खास दिक्कत नहीं है। 

समस्या इसके परिवहन को लेकर है। इसके लिए क्रायोजेनिक टैंकर की जरूरत पड़ती है जिसकी कमी है। अब इस ऐप व पोटर्ल की मदद से बड़ी सहायता मिलेगी। इसकी मदद से ऑक्सीजन की आपूर्ति, खपत व जरूरत को लेकर पारदर्शिता आएगी। ऑक्सीजन के मिस यूज, कालाबाजारी व बर्बादी को रोका जा सकेगा। वरिष्ठ वैज्ञानिक व गणितज्ञ प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने बताया कि ऐप सबसे कम समय में तेजी के साथ तैयार की गई है और इसने बुधवार से काम करना शुरू कर दिया है। अस्पताल प्रशासन को रोज इस ऐप पोटर्ल पर उपलब्ध ऑक्सीजन के स्टॉक, वेंटीलेटर व गैर वेंटीलेटर वाले मरीजों की संख्या व ऑक्सीजन की आवश्यकता को लेकर जानकारी को अपडेट करना पड़ेगा जिसके आधार पर कैलकुलेशन कर आने वाले दिनों में ऑक्सीजन की आवश्यकता का आंकलन किया जा सकेगा और यह पता करना आसान होगा किस अस्पताल को ऑक्सीजन की तुरंत आवश्यकता है और किस अस्पताल को किस दिन जरूरत पड़ने वाली है। 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News