भारत में डाटा सेव करनी की मांग से बौखलाई फेसबुक

  • भारत में डाटा सेव करनी की मांग से बौखलाई फेसबुक
You Are HereLatest News
Monday, April 29, 2019-9:42 AM

- जकरबर्ग ने कहा इससे बढ़ेगा जोखिम

गैजेट डैस्क : भारतीय नागरिकों के डाटा की चिंता करते हुए फेसबुक को कहा गया था कि वे भारतीयों का डाटा देश में ही सेव करे। इस पर फेसबुक बौखला गई है और कम्पनी के CEO ने भी हैरान करने वाला बयान दिया है। फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग ने कहा है कि लोकल लैवल पर डाटा स्टोर करने की भारत की मांग को वह समझ रहे हैं, लेकिन अगर भारत के लिए ऐसा किया जाता है तो दुनिया के अन्य देशों द्वारा भी ऐसी ही मांग की जा सकती है। इनमें से कुछ तानशाह देश अपने नागरिकों के डाटा का दुरुपयोग कर सकते हैं। ऐसे में फेसबुक ने भारत की डाटा को देश में ही सेव करने की मांग से सहमति नहीं जताई है।

PunjabKesari

जुकरबर्ग ने कहा उन्हें है सिर्फ अपनी चिंता

इतिहासकार और लेखक युवल नोआ हरारी के साथ हुई बातचीत में जुकरबर्ग ने कहा कि डाटा को लोकल लैवल पर सेव करने के पीछे के इरादे को समझना महत्वपूर्ण है। उनसे पूछे जाने पर कि भारतीय नागरिकों का डाटा अमेरिका में स्टोर करना सुरक्षित है और इसे भारत में क्यों सेव नहीं किया जा सकता। तो इस पर जुकरबर्ग ने खुलेआम कह दिया कि उन्हें सिर्फ अपनी चिंता है।

  • कम्पनी के CEO ने कहा कि डाटा लोकलाइजेशन पर हमारा रुख खतरे को लेकर है। अगर किसी बड़े देश में फेसबुक को ब्लॉक किया जाता है तो इससे हमारे समुदाय और कारोबार पर बहुत असर पड़ेगा। लेकिन इससे खतरा बढ़ भी सकता है। 

क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की गाइडलाइन्स में कहा गया है कि डिजिटल पेमेंट फर्म जैसे कि गूगल पे, व्हाट्सएप और अन्य को भारत में बिजनेस करने के लिए देश के भीतर ही डाटा को स्टोर करना होगा। ऐसे में इतिहासकार और लेखक युवल नोआ हरारी के साथ बातचीत में फेसबुक के CEO ने कहा कि वे अडवांस्ड सिस्टम को तैयार कर रहे हैं जो लोकतांत्रिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप का पता लगाने में मदद करेगा। फेसबुक का दुरुपयोग रोकना निश्चित रूप से महत्वपूर्ण है, लेकिन उन्होंने भारतीयों का डाटा देश में सेव करने पर असहमति जताई है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh