स्वदेशी Koo एप्प की बढ़ी लोकप्रियता, क्या दे पाएगी ट्विटर को टक्कर

  • स्वदेशी Koo एप्प की बढ़ी लोकप्रियता, क्या दे पाएगी ट्विटर को टक्कर
You Are HereGadgets
Wednesday, February 10, 2021-2:44 PM

गैजेट डैस्क: भारतीय अब सोशल मीडिया एप्स का विकल्प तलाश करने में लगे हुए हैं। अब ट्विटर के विकल्प में लाई गई कू एप्प की लोकप्रियता भारत में काफी बढ़ गई है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भी कू एप्प पर अपना अकाउंट बना लिया है। गोयल के अलावा कई अन्य मंत्रियों ने भी कू एप्प का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।

 

कू एप्प के बारे में वैसे तो बहुत से लोग जानते हैं लेकिन अभी भी कई लोग इससे अनजान हैं। Koo एक माइक्रोब्लॉगिंग साइट है जिसे ट्विटर की टक्कर में पेश किया गया है। इसे मेड इन इंडिया ट्विटर भी कहा जाता है। यह एप्प हिंदी, अंग्रेजी समेत आठ भारतीय भाषाओं को सपोर्ट करती है। इसे आप एप्प और वेबसाइट दोनों तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका भी इंटरफेस ट्विटर जैसा ही है। इसमें शब्दों की सीमा 350 है। कू के सह-संस्थापक और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्ण हैं।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News