चाइनीज़ एप्स को लगा झटका, कम हो गई डाउनलोडिंग और छिन गए विज्ञापन

  • चाइनीज़ एप्स को लगा झटका, कम हो गई डाउनलोडिंग और छिन गए विज्ञापन
You Are HereGadgets
Friday, June 26, 2020-1:40 PM

गैजेट डैस्क: भारत-चीन सीमा विवाद के बाद पूरा देश चीन के खिलाफ एकजुट हो गया है। चीनी कंपनियों और चीनी प्रोडक्ट्स का लगातार बहिष्कार हो रहा है। भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के चलते चीनी एप्स को हर मामले में झटका लगा है। सीमा विवाद के बीच TikTok, Helo, Likee और PUBG जैसी पॉप्युलर चाइनीज़ एप्स की डाउनलोडिंग में गिरावट देखने को मिली है। भारतीय अब इनका उपयोग करना ठीक नहीं समझ रहे।

SensorTower की रिपोर्ट के मुताबिक, लाइव स्ट्रीमिंग एप्प बिगो लाइव, शॉर्ट वीडियो मेकिंग एप्प लाइकी और गेमिंग एप्प पबजी के डाउनलोड्स में जून महीने में गिरावट दर्ज की गई है, जबकि टिकटॉक और हेलो एप्प की डाउनलोडिंग में अप्रैल महीने से गिरावट देखने को मिली है।

एप्स को भारत में नहीं मिल रहे विज्ञापन

विशेषज्ञों की मानें तो फिलहाल भारत में विज्ञापनदाता कंपनियां भी इन एप्स से दूसी बना रही हैं। भारतीय कंपनियों ने इन्हें विज्ञापन देने बंद कर दिए हैं, ऐसे में माना जा रहा है कि बॉयकॉट चाइना प्रोडक्ट्स का असर अब दिखने लगा है।

आपको बता दें कि चीनी कंपनी शाओमी ने अपने लोगो और साइन बोर्ड्स को 'Made in India' Logo से कवर करना शुरू कर दिया है। इसके अलावा शॉप में काम करने वाले वर्कर्स को भी शाओमी के लोगो वाली यूनीफॉर्म ना पहनने को कहा गया है। सोशल मीडिया पर चल रहे एंटी-चाइना कैंपेन की आड़ में दुकानदारों को नुक्सान ना हो इसलिए ऐसा किया जा रहा है। यही वजह है कि कंपनी ने  अपने लोगो को 'मेड इन इंडिया' ब्रैंडिंग से ढकने का फैसला किया है। Economictimes की रिपोर्ट के मुताबिक ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स एसोसिएशन (AIMRA) की ओर से चाइनीज़ स्मार्टफोन ब्रैंड्स को एक लेटर लिखकर कहा गया है कि उनकी दुकानों और प्रॉडक्ट्स को मिल रहीं धमकियों के चलते उन्हें ब्रैंडिंग छुपानी या अब हटानी ही पड़ेगी।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh