1.5 लाख रुपए में बिक रहा भारतीय Truecaller यूजर्स का डाटा: रिपोर्ट

  • 1.5 लाख रुपए में बिक रहा भारतीय Truecaller यूजर्स का डाटा: रिपोर्ट
You Are HereTop Stories
Wednesday, May 22, 2019-5:28 PM

- मामला सामने आने पर कम्पनी का बयान 'नहीं हुआ डाटा चोरी'

गैजेट डैस्क : अगर आप मोबाइल नम्बर की पहचान करने के लिए Truecaller एप्प का उपयोग करते हैं तो यह खबर आपके साथ जुड़ी हुई है। एक नई रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया गया है कि Truecaller यूजर्स के नाम, फोन नम्बर्स और इमेल अड्रैस लीक कर दिए गए हैं और इन्हें डार्क वैब पर बिक्री के लिए उपलब्ध किया गया है। एक साइबर सिक्योरिटी एनालिस्ट ने इकोनॉमिक टाइम्स को बताया है कि पूरी दुनिया में 60 से 70 प्रतिशत ट्रयूकॉलर एप्प का उपयोग भारत में किया जाता है। यह डाटा 1 लाख 55 हजार रुपए में बेचा जा रहा है। वहीं ग्लोबली सभी यूजर्स के डाटा की कीमत 20 लाख रुपए रखी गई है।

PunjabKesari

लीक जानकारी में आपके घर का पता भी शामिल

firstpost की रिपोर्ट के मुताबिक बिक्री के लिए उपलब्ध किए गए कुछ डाटाबेस सैम्पल्स से इनवैस्टिगेशन के दौरान पता लगाया गया है कि इनमें यूजर्स के नम्बर्स, मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर कम्पनी का नाम व आपके घर का पता भी शामिल है।

PunjabKesari

डाटा लीक का उल्लंघन कर रही ट्रयूकालर

इस बीच, ट्रयूकालर ने किसी भी डाटा लीक होने की जानकारी का उल्लंघन किया है और किसी भी संवेदनशील जानकारी के लीक होने से इनकार किया है। ट्रयूकालर के प्रवक्ता ने बताया, 'हाल ही में यह हमारे ध्यान में लाया गया है कि कुछ यूजर्स अपने अकाउंट का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। हम यह पुष्टि करते हुए बताना चाहते हैं कि किसी संवेदनशील जानकारी में सेंध नहीं लगी है।'

PunjabKesari

ट्रयूकालर ने इस साल शुरू की थी जांच

आपको बता दें कि ट्रयूकालर ने इस वर्ष की शुरुआत में कहा था कि उसने अपने प्लैटफॉर्म का गलत इस्तेमाल करने के शक वाले यूजर अकाउंट्स की जांच शुरू की थी। ट्रयूकालर ने दोहराते हुए कहा कि डाटाबेस पर हमला नहीं हुआ है क्योंकि हमारे सर्वर पर स्टोर किया गया डाटा पूरी तरह सुरक्षित है। हम यूजर्स की प्राइवेसी और हमारी सर्विसेज की सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेते हैं।'

  • इस बयान पर सिंगापोर की सायबर सिक्यॉरिटी ऐंड प्रिवेसी फाउंडेशन के जे. प्रसन्ना (J Prasanna) ने कहा, 'लीक हुए डाटा में सामान्य डाटा ही नहीं, बल्कि कई फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस का डाटा भी शामिल है। कम्पनियों को सतर्कता बरतते हुए ग्राहकों के डाटा को सुरक्षित रखने की सख्त जरूरत है।


 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh