अब डिलीवरी करने के लिए उपयोग में लाए जाएंगे इलैक्ट्रिक ट्रक

  • अब डिलीवरी करने के लिए उपयोग में लाए जाएंगे इलैक्ट्रिक ट्रक
You Are HereLatest News
Tuesday, May 15, 2018-10:13 AM

जालंधर : अमरीकी मल्टीनैशनल पैकेज डिलीवरी सर्विस UPS ने एक स्टार्टअप कम्पनी के साथ मिल कर नए इलैक्ट्रिक डिलीवरी ट्रक्स को डिवैल्प किया है जो शहर के अंदर बिना प्रदूषण किए सामान को पहुंचाने में मदद करेंगे। UPS ने बताया है कि ये ट्रक एक बार में ईंधन से चलने वाले किसी भी डिलीवरी ट्रक से ज्यादा दूरी का रास्ता तय कर सकते हैं। एक बार इसे फुल चार्ज कर 240 किलोमीटर तक चलाया जा सकता है। इसके डिजाइन को UPS ने इलैक्ट्रिक वैन निर्माता कम्पनी अराइवल के साथ मिल कर बनाया है। इन ई-ट्रक्स को इसी साल लंदन और पैरिस में शुरू करने की जानकारी दी गई है। 

 

बनाए जाएंगे 35 ई-ट्रक

UPS कम्पनी ने एनगैजेट को बताया है कि 35 लाइटवेट इलैक्ट्रिक ट्रक्स बनाए जाएंगे। इनमें हाईली एडवांस व्हीकल डिस्प्ले लगी होगी वहीं ये ट्रक अलग से सेफ्टी फीचर्स से भी लैस होंगे। इसके अलावा कम्पनी ने फिलहाल इनकी स्पैसीफिकेशंस को लेकर जानकारी सांझा नहीं की है। सिर्फ इतना बताया है कि  इसके फ्रंट में रैप-अराऊंड विंडशील्ड लगी है जो ड्राइवर को सड़क का ज्यादा व्यू दिखाने में काफी मदद करती है। 

 

UPS ने कहा है कि हमारा बिज़नैस पूरी तरह से ईंधन से चलने वाले वाहनों पर निर्भर करता है। जिस वजह से अब हमने एक और विकल्प की खोज में इन इलैक्ट्रिक डिलीवरी ट्रक्स को बनवाया है। हमने वर्ष 2009 में आल्टरनेटिव फ्यूल और एडवांस टैक्नोलॉजी व्हीकल्स प्रोजैक्ट में 750 मिलियन अमरीकी डॉलर निवेश किए थे। अब तक हम वर्कहाऊस ग्रुप से 50 इलैक्ट्रिक ट्रक्स खरीद चुके हैं। इसके अलावा हमने अलग से 125 टैस्ला सैमी ट्रक के आर्डर भी दिए हैं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!